स्वास्थ्य सेवाओं को बेहतर बनाने में सबकी सहभागिता जरूरीः ब्रजेश पाठक

लखनऊ। स्वास्थ्य सुविधाओं और बेहतर बनाने की दिशा में प्रदेश सरकार लगातार काम कर रही है। आधुनिक इलाज मरीजों को मुहैया कराया जा रहा है। नई सुविधाओं को जोड़ा जा रहा है। ताकि मरीजों को इलाज के लिए दिल्ली, मुम्बई समेत अन्य राज्यों की तरफ रुख न करना पड़े।

यह बातें उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक ने शुक्रवार को गोमतीनगर में सीआईआई की ओर से यूपी हेल्थ समिट में कही। उन्होंने कहा कि प्रदेश में डॉक्टरों की कमी को दूर करने के लिए प्रत्येक जिले में मेडिकल कॉलेज खोले जा रहे हैं। पांच साल पहले प्रदेश में 13 मेडिकल कॉलेज थे। अब इनकी संख्या बढ़कर करीब 61 हो गई है। जल्द ही बाकी जिलों में पीपीपी मॉडल पर मेडिकल कॉलेज खोले जाएंगे। इसमें उद्यमी आगे आएं। सरकार हर संभव मदद करेगी। राज्य के आर्थिक विकास को मजबूत करने में इसकी अहम भूमिका है। इसलिए इस क्षेत्र में एकीकृत दृष्टिकोण की आवश्यकता है। इस कार्य में निजी क्षेत्र के लिए अपार संभावनाएं मौजूद है।

सीआईआई के अध्यक्ष विनम्र अग्रवाल ने कहा कि सीआईआई राज्य में स्वास्थ्य सेवा क्षेत्र के विकास को आगे बढ़ाने के लिए सरकार और उद्योग के साथ सक्रिय रूप से कार्यरत है। सीआईआई ने वाराणसी में चार सरकारी अस्पतालों की पहचान की है। जिनके ब्लड बैंकों को वित्तीय सहायता प्रदान कर रोगियों की रक्त की मांग को व्यापक रूप से पूरा करने में मदद मिल सके। सीआईआई सार्वजनिक-निजी भागीदारी मॉडल के आधार पर आयुष्मान भारत के सफल कार्यान्वयन पर राज्य सरकारों के साथ काम करने का भी इरादा रखता है।

Post a Comment

0 Comments