नर्सिंग अधिकारी पदों पर भर्ती न होने से संविदा नर्सों ने जताया विरोध

गोपेश्वर। चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग में पिछले दो वर्ष से रुकी पड़ी नर्सिंग अधिकारी के पदों की भर्ती प्रक्रिया शुरू होने से संविदा पर कार्यरत नर्सों ने विरोध जताया। सोमवार को संविदा स्टाफ नर्सेज व बेरोजगार संघ चमोली ने बांह पर काला फीता बांध कर विरोध व्यक्त किया। नर्सों ने प्रमुख चिकित्सा अधीक्षक के माध्यम से मुख्यमंत्री को ज्ञापन भेज कर भर्ती प्रक्रिया शुरू करने की मांग की है।

संघ के जिलाध्यक्ष विनीत रावत ने बताया कि चिकित्सा स्वास्थ्य एवं चिकित्सा शिक्षा विभाग में नर्सिंग अधिकारी के 2621 पदों पर भर्ती के लिए 12 दिसम्बर 2020 को विज्ञापन जारी किया गया था, किन्तु अभी तक भर्ती नहीं हो सकी है। लिखित भर्ती परीक्षा दो बार स्थगित कर दी गई है। कई बेरोजगार युवा 10-15 वर्ष से संविदा उपनल, एनएचएम, आउटसोर्स के माध्यम से पूरे प्रदेश में दुर्गम, अतिदुर्गम, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र, सामुदायिक स्वास्थय केन्द्र जिला अस्पताल मेडिकल कॉलेज में सेवाएं दे रहे हैं। कई युवाओं की आयु सीमा भी पार हो रही है। उन्होंने कहा कि इसके विरोध में सोमवार और मंगलवार को बांह पर काला फीता बांधकर विरोध प्रदर्शन करेंगे और 27 से देहरादून में अनिश्चितकालीन हड़ताल शुरू की जायेगी। विरोध प्रदर्शन करने वालों में विनीत रावत, गौतम हिंदवाल, कविता भट्ट, सोनम सजवाण, मनोरमा रावत, मैनानाज, ममता, महेंद्र, राहुल पाल आदि शामिल थे।

Post a Comment

0 Comments