कांवड़ मेले के दौरान आर्मी तैराक दल व रेडक्रास स्वयंसेवकों ने 127 को डूबने से बचाया

हरिद्वार। हरिद्वार में एक पखवाड़े तक चले श्रावण मास के कांवड़ मेले में बीईजी आर्मी के तैराक दल ने 127 कांवड़ियों को गंगा में डूबने से बचाया। बीईजी कमांडेंट राजेश सिंह के नेतृत्व में आर्मी की बचाव टीम 24 घंटे तैनात रहीं। रेड क्रॉस सोसाइटी के सचिव डॉ नरेश चौधरी के निर्देशन में रेड क्रॉस की टीमें भी इस दल के साथ कंधे से कंधा मिलाकर खड़ी रहीं।

रेडक्रॉस सोसाइटी के सचिव तथा नोडल अधिकारी डॉ नरेश चौधरी ने बताया कि बीईजी आर्मी तैराक दल ने मेला अवधि में 127 शिवभक्तों व अन्य श्रद्धालुओं को डूबने से बचाया गया। मंगलवार को बीईजी ने 17 वर्षीय अरुण निवासी जालंधर, 24 वर्षीय मोनू निवासी बागपत, 18 वर्षीय अमन निवासी नई दिल्ली, 20 वर्षीय रमन गिरी निवासी कुरूक्षेत्र, 22 वर्षीय श्याम निवासी सराहनपुर, 23 वर्षीय संतोष निवासी मुरादाबाद, 18 वर्षीय संदीप निवासी रोहतक को विभिन्न घाटों से गंगा में डूबने से बचाया और उन्हें प्राथमिक उपचार भी दिया। उन्होंने बताया कि मेला के दौरान बीईजी आर्मी तैराक दल एवं रेड क्रास के स्वयंसेवक गंगा के पुलों एवं घाटों पर तैनात रहने के दौरान कांवडियों को गंगा में पुलों से कूदने से रोकने, गहरे स्थानों एवं अधिक जल प्रवाह में स्नान न करने की चेतावनी देते रहे।

बीईजी आर्मी तैराक दल के कमाण्डेण्ट राजेश सिंह (वि0से0मे0) के निर्देशन, डिप्टी कमाण्डेण्ट संजीव पठानिया, कर्नल एसके मानव, लै कर्नल महिप सिंह, लै कर्नल प्रतीक गुप्ता, मेजर एस चक्रवर्ति के नेतृत्व में सूबेदार खेमसिंह, नायाब सूबेदार लखबीर सिंह, अमनदीप, गुरप्रीत सिंह, मन्दीप सिंह, मनप्रीत सिंह, सैपर्स राहुल सिंह रावत, भाष्कर सीना, संग्राम साहु, अमूल सिंह, दीपांशु, मेघराज सिंह, रामू पाल, रोहित सिंह पूरे में कांवड मेला क्षेत्र के विभिन्न गंगा घाटों पर डटे रहे।

Post a Comment

0 Comments