मिशन नगरोदय : ग्रोथ के इंजन हैं शहर, इन्हें बनाएंगे सर्व-सुविधायुक्त: शिवराज

मिशन नगरोदय : ग्रोथ के इंजन हैं शहर, इन्हें बनाएंगे सर्व-सुविधायुक्त: शिवराज


मिशन नगरोदय : ग्रोथ के इंजन हैं शहर, इन्हें बनाएंगे सर्व-सुविधायुक्त: शिवराज


भोपाल, 17 मई (हि.स.)। मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि हमारे शहर ग्रोथ के इंजन हैं। इन्हें सर्व-सुविधायुक्त बनाया जाएगा। प्रधानमंत्री मोदी ने शहरों के विकास के जो पांच मंत्र दिए हैं, मध्यप्रदेश तेजी से उनका क्रियान्वयन करेगा। इनमें शहरों को राज्य का चेहरा बनाते हुए नागरिकों के जीवन को आसान बनाएंगे, प्रत्येक नगरवासी को गुणवत्तापूर्ण जीवन, निर्धन वर्ग को असमानताओं से मुक्त कर लाभान्वित करने और आत्म-सम्मान के साथ जीने की सुविधा देने का मंत्र शामिल है।

मुख्यमंत्री चौहान कुशाभाऊ ठाकरे सभागार भोपाल में 'मिशन नगरोदय' में 21 हजार 858 करोड़ रुपये के विविध विकास कार्यों के शुभारंभ, लोकार्पण और भूमि-पूजन के बाद समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने वर्ष 2024-25 तक हर गरीब को अपना पक्का मकान उपलब्ध कराने का संकल्प लिया है। मध्यप्रदेश इस संकल्प को पूरा करने में आगे रहेगा। दबंगों से मुक्त करवाई गई 21 हजार एकड़ भूमि पर गरीब वर्ग के आवास निर्मित करने की योजना मूर्तरूप लेगी। मुख्यमंत्री चौहान ने मंगलवार को नगरीय विकास मंत्री भूपेंद्र सिंह और उनकी टीम को नगरों के विकास के लिए उठाए गए महत्वपूर्ण कदमों के लिए बधाई दी। आज स्कूली बच्चों को कुपोषण से बचाने का अभिनव मूंग दाल वितरण कार्यक्रम भी शुरू हुआ, जो देश में अनूठा है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहर अवैध कॉलोनियों की समस्या से भी जूझते हैं। इसके लिए कॉलोनियों को वैध करने की नीति तैयार की गई है। इन कॉलोनियों में सड़क और पेयजल जैसी बुनियादी सुविधाएँ उपलब्ध करवाई जाएंगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि भोपाल शहर का मास्टर प्लान शहर के हित में ही तैयार होगा। अन्य स्थानों से नगरों में आने वाले लोगों को दस रुपये में भरपूर भोजन उपलब्ध कराने के लिए दीनदयाल रसोई केंद्रों की संख्या बढ़ाई जाएगी। इसके लिए राज्य सरकार आवश्यक बजट प्रदान करेगी। चौहान ने कहा कि प्रत्येक नगर का गौरव दिवस मनाया जा रहा है। अब तक प्रदेश के 31 नगरों में गौरव दिवस मनाये जा चुके हैं। शीघ्र ही भोपाल और इंदौर के गौरव दिवस में भी शहर के इतिहास, संस्कृति और परम्पराओं पर आधारित कार्यक्रम होंगे।

स्टार्टअप के लिए आयडियाज पर देंगे पूरी मदद

मुख्यमंत्री ने कहा कि गत 26 जनवरी से स्टार्टअप समिट के बाद 750 करोड़ रुपये के निवेश में सफलता मिली है। युवाओं के आयडियाज पर स्टार्टअप प्रारंभ हो रहे हैं। इस क्षेत्र में मध्यप्रदेश अलग कार्य करके दिखाएगा। प्रदेश में शीघ्र ही 2 लाख लोगों को रोजगार के अवसर मिलेंगे। स्ट्रीट वेंडर्स को योजना का अधिक से अधिक लाभ दिलवाने का कार्य होगा। मुख्यमंत्री उद्यम क्रांति योजना में एक लाख से लेकर 50 लाख रूपये तक की ऋण राशि सरकारी गारंटी के साथ देने का प्रावधान है।

वर्ष 2014 के बाद स्वच्छता, पर्यावरण और पेयजल देश में बना बिहेवियर

केन्द्रीय खाद्य प्र-संस्करण एवं जलशक्ति राज्य मंत्री प्रहलाद पटेल ने कहा कि ग्रे वॉटर मैनेजमेंट स्ट्रीट वेंडर्स को यूनिक आईडेंटिटी देना आवश्यक है। वर्ष 2014 के बाद स्वच्छता, पर्यावरण और पेयजल देश में बिहेवियर हुआ है। कार्यों में जो परिवर्तन आया है वह एक क्रांति के समान है। पहले सरकारें बिना योजना, लक्ष्य निर्धारण के कार्य करती थी। सांसद वी.डी. शर्मा ने कहा कि मिशन नगरोदय में आज हुए लोकार्पण और हितग्राहियों को हितलाभ वितरण ऐतिहासिक है। मुख्यमंत्री विकास के पर्याय बन गए हैं। उन्होंने पं दीनदयाल उपाध्याय के विचारों को जमीन पर उतारने का कार्य किया है।

पहली बार नगरों के विकास के लिये एक साथ 21 हजार करोड़ रूपये

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेन्द्र सिंह ने कहा कि नगरों के विकास के लिये पहली बार एक साथ 21 हजार करोड़ रुपये दिये जा रहे हैं। इससे नगरों का सर्वांगीण विकास होगा। उन्होंने बताया कि आज मुख्यमंत्री ने अमृत-2.0 में 12 हजार 858 करोड़ 71 लाख और स्वच्छ भारत मिशन-2.0 में 4 हजार 913 करोड़ 74 लाख रूपये की योजनाओं का शुभारंभ किया है।

समारोह में केन्द्रीय कृषि और किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर मुरैना से, केन्द्रीय नागरिक उड्डयन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया नई दिल्ली से और इस्पात और ग्रामीण विकास राज्य मंत्री फग्गन सिंह कुलस्ते गुवाहाटी से वर्चुअली शामिल हुए। कार्यक्रम में सांसद प्रज्ञा सिंह ठाकुर, विधायक रामेश्वर शर्मा और विधायक कृष्णा गौर, प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास मनीष सिंह और आयुक्त नगरीय प्रशासन और विकास निकुंज कुमार श्रीवास्तव उपस्थित रहे।

हिन्दुस्थान समाचार/राजू

Post a Comment

0 Comments