चिटफंड कंपनी के नाम पर करोड़ों रुपये का चूना लगाने में महिला समेत तीन गिरफ्तार

चिटफंड कंपनी के नाम पर करोड़ों रुपये का चूना लगाने में महिला समेत तीन गिरफ्तार


चिटफंड कंपनी के नाम पर करोड़ों रुपये का चूना लगाने में महिला समेत तीन गिरफ्तार


मुरादाबाद, 30 मार्च (हि.स.)। चिटफंड कंपनी के नाम पर यूपी और उत्तराखंड में सैकड़ों लोगों को करोड़ों रुपये का चूना लगाने में आरोपित एक महिला समेत तीन लोगों को सिविल लाइंस पुलिस ने गिरफ्तार कर किया हैं। पुलिस इस गिरोह के फरार अन्य सदस्यों की तलाश में छापेमारी कर रही है।

एएसपी व सीओ सिविल लाइंस ने बुधवार रात में एक प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि छजलैट थाना क्षेत्र के गांव फरीदपुर भैंडी उर्फ सीतापुर निवासी राजेश कुमार ने 27 मई को सिविल लाइंस थाने में म्यूच्युअल बेनिफिट निधि के डायरेक्टर रामगंगा विहार निवासी अजय कुमार यादव, सरिता केसरवानी, जितेंद्र कुमार, रविश कुमार, नवनीत कुमार, गजेंद्र सिंह यादव और अजय कुमार के बड़े भाई के खिलाफ धोखाधड़ी समेत अन्य गंभीर धाराओं में मुकदमा दर्ज कराया था। शिकायत में आरोपित ने उनसे आरडी एफडी में 4.65 लाख रुपये जमा कराया था। एक वर्ष बाद की मेच्यूरिटी पूर्ण होने पर सभी डायरेक्टरों ने 13 महीने तक परेशान किया और भगुतान नहीं किया। शिकायतकर्ता का आरोप है कि इन लोगोंं ने सपा की सरकार आने पर देख लेने और फंसाने की धमकी दी थी। 2 जून को छजलैट थानाक्षेत्र के गांव संजरपुर निवासी राजेंद्र सिंह ने भी इन लोगों के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराई थी। राजेंद्र सिंह इनकी कंपनी में एजेंट था।

उन्होंने बताया कि लगभग पांच करोड़ रुपये ठगकर आरोपित कंपनी बंद करके रातों-रात फरार हो गए थे। इस मामले में अन्य पीड़ितों कृष्णपाल सिंह, समरपाल सिंह, राजवीर सिंह, वीरेंद्र कुमार आदि ने भी रिपोर्ट दर्ज कराई थी। सिविल लाइंस पुलिस इन सभी आरोपितों की तलाश में थी। एएसपी ने बताया कि मंगलवार देर रात पुलिस को सूचना मिली थी कि इस मामले में आरोपित ममता यादव पत्नी अजय यादव, नवनीत कुमार पुत्र राजाराम और उमेश कुमार कांठ तहसील में मौजूद हैं। इस पर बुधवार सुबह सिविल लाइंस पुलिस कांठ पहुंच गई और और स्थानीय पुलिस के सहयोग से ममता, नवनीत और उमेश को गिरफ्तार कर लिया।

हिन्दुस्थान समाचार/निमित जायसवाल

Post a Comment

0 Comments