मिश्रित खेती से श्याम सिंह अच्छी आमदनी लेते हैं

मिश्रित खेती से श्याम सिंह अच्छी आमदनी लेते हैं

भोपाल : मात्र 9 एकड़ जमीन से हर माह सवा लाख की आमदनी। यह आश्चर्यजनक प्रतीत होता है पर यथार्थ है। भोपाल नगर से लगे गोलखेड़ी गाँव के किसान श्याम सिंह ने मिश्रित खेती से यह कर दिखाया है। वे अपनी इस उपलब्धि से गोलखेड़ी के साथ-साथ आसपास के गाँवों में जाने जाने लगे हैं। किसान श्याम कुशवाह ने 9 एकड़ भूमि से साल में 15 लाख रूपये से अधिक की आमदनी अर्जित करने का कमाल कर दिखाया है। युवा किसान श्याम कुशवाहा बताते हैं कि ‘आत्मा’ परियोजना में जैविक एवं कृषि विविधीकरण का उपयोग करके उन्होंने 9 एकड़ भूमि पर खेती की। वे 2 एकड में सब्जी, 4 एकड में अनाज एवं 2 एकड़ में फल लेते हैं। शेष भूमि पर जैविक खाद बनाया जाता है।

उन्होंने कृषि विभाग की सहायता से पॉली हाउस बनवाया, जिसमें सब्जियों की खेती अत्यधिक लाभकारी सिद्ध हुई है। उन्हें पालक की खेती से अच्छा लाभ प्राप्त हुआ है। वे पत्तेदार सब्जियों की 100 से 125 क्विंटल प्रति 2 एकड़ तक उपज ले रहे हैं।

किसान श्याम कुशवाह बताते हैं, “मेरा गाँव राजधानी के करीब होने से जैविक सब्जियों की अच्छी माँग रहती है। स्थानीय गैर शासकीय संस्थाओं के माध्यम से जैविक सब्जियाँ सीधे उपभोक्ताओं को उपलब्ध करवाकर सब्जियों का अच्छा मूल्य मिल जाता है।” वे कृषि के साथ पशुपालन भी करते हैं और इससे 60 से 70 लीटर तक दूध प्रतिदिन गाँव में विक्रय करते है। इन सबसे लगभग 1 लाख 26 हजार प्रतिमाह तक की आमदनी हो जाती है।

श्री श्याम कुशवाह ने कृषि वैज्ञानिकों के माध्यम से जैविक खाद बनाने का प्रशिक्षण लिया। वे मटका खाद और 10 पत्ती काढा बना रहे हैं। वर्मी कम्पोस्ट, वर्मी वाश आदि का उपयोग फसलों में करने से डीएपी एवं अन्य रसायनों की आवश्यकता नहीं पड़ती है।

Post a Comment

0 Comments