आगरा में और मजबूत होंगी स्वास्थ्य सुविधाएं, 27 नए स्वास्थ्य उप केंद्र हुए शुरू

आगरा में और मजबूत होंगी स्वास्थ्य सुविधाएं, 27 नए स्वास्थ्य उप केंद्र हुए शुरू

आगरा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को पूर्वान्ह चार बजे प्रदेश में पांच हजार स्वास्थ्य उपकेंद्रों ऑनलाइन माध्यम से उदघाटन किया। जनपद में भी 27 नए स्वास्थ्य उपकेंद्रों शुरू हुए। स्वास्थ्य उप केंद्र बनने से समुदाय को काफी राहत मिलेगी । गर्भवती व बच्चों के स्वास्थ्य का केंद्र पर खास ख्याल रखा जाएगा। इससे समय और पैसे की बचत होगी |

मुख्य चिकित्सा अधिकारी (सीएमओ) डा.अरूण कुमार श्रीवस्तव ने बताया कि जनपद में अब 27 नए स्वास्थ्य उपकेंद्र जुड़ने से स्वास्थ्य सुविधाएं समुदाय स्तर तक और अच्छे तरीके से पहुंच सकेंगी। उन्होंने बताया कि पहले जनपद में 391 स्वास्थ्य उपकेंद्र थे, इनकी संख्या अब बढ़कर 418 हो गई है। बिचपुरी के जखोदा स्वास्थ्य उपकेंद्र का उदघाटन ग्राम प्रधान राखी ने किया। इस अवसर पर सीएमओ डॉ. अरुण श्रीवास्तव, डीपीएम कुलदीप भारद्वाज, प्रभारी चिकित्सा अधिकारी डॉ. कृष्णा कुमार शर्मा, बीपीएम लोकेंद्र तिवारी, प्रधान पति अजय अंबेश, स्वास्थ्य निरीक्षिका ममता भार्गव, एएनएम बिंदु सक्सेना, आशा अनुराधा, आंगनवाड़ी राजेश शर्मा मौजूद रहे।

सीएमओ ने कहा कि ग्राम स्वास्थ्य एवं पोषण दिवस (वीएचएनडी) पर केंद्र पर गर्भवती व धात्री महिलाओं, योग्य दंपत्ति, किशोर-किशोरी और शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चों को लाभ दिया जाएगा। केंद्र पर 15-49 वर्ष तक के योग्य दंपत्ति को परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने के लिए प्रेरित किया जाएगा। परिवार नियोजन के साधनों का वितरण भी होगा। गर्भवती का पंजीकरण, प्रसव पूर्व जांच, जटिलता की पहचान, आईएफए व कैल्शियम की गोलियों का वितरण, धात्री माताओं को आईएफए व कैल्शियम की गोलियों का वितरण, प्रसव पश्चात जटिलता होने पर संदर्भन, शून्य से पांच वर्ष तक के बच्चे का जन्म पंजीकरण, डायरिया व निमोनिया से बचाव के लिए ओआरएस जिंक का वितरण किया जाएगा।
एसीएमओ आरसीएच डॉ. संजीव वर्मन ने बताय कि राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के तहत बनने वाले इन उप केंद्रों पर नियमित टीकाकरण किया जाएगा। इसके अलावा सुरक्षित और सामान्य प्रसव की भी सुविधा होगी। इन उप केंद्रों के संचालन से जिले में संस्थागत प्रसव की संख्या भी बढ़ जाएगी। उन्होंने बताया कि सभी केंद्रों को शुरू करने के लिए सभी आवश्यक तैयारियां कर ली गई हैं।

यह व्यवस्था उपलब्ध रहेंगी
=इन केंद्रों पर डिजिटल हीमोग्लोबिन मीटर, टेलीकुईस्ट कलर स्केल, सहलीज एचबी किट, बीपी मशीन, वजन मापने की मशीन, फिटो स्कोप, ग्लूकोमीटर, थर्मामीटर, यूरी स्ट्रीप्स, स्टेटस्कोप,एनाफाइले क्सिस किट, पेट की जांच के लिए बेड, ऊंचाई मापने के लिए टेप, दस्ताने, कचरा निस्तारण के लिए लाल, काली पॉलीथिन, आरसीएच रजिस्टर, आईसी सामग्री, एचआरपी रजिस्टर, एचआरपी सील, एमसीपी कार्ड जैसी जरूरी चीजें उपलब्ध होंगी।

जिला सामुदायिक प्रक्रिया प्रबंधक डॉ. विजय सिंह ने बताया कि स्वास्थ्य उप केंद्र पर मरीजों का उपचार किया जाता है। जनपद की आबादी को स्वास्थ्य केंद्रों तक पहुंचने में दिक्कत न हो। इसके लिए नए केंद्रों को शुरू किया जा रहा है। इन केंद्रों पर वीएचएनडी की सभी सेवाएं मिलेंगी। इनमें विशेष वीएचएनडी सत्रों का आयोजन किया जाएगा।

वीएचएनडी पर लक्षित लाभार्थियों को दी जाने वाली सेवाएं
-योग्य दंपति को परिवार नियोजन के साधनों को अपनाने हेतु प्रेरित किया जाएगा और साधनों का वितरण किया जाएगा।
–धात्री माताओं को आईएफए एवं कैल्शियम की गोलियों का वितरण किया जाएगा और प्रसव पश्चात जटिलता होने पर रेफर भी किया जाएगा।
-0-5 वर्ष के बच्चों का जन्म पंजीकरण, टीकाकरण, डायरिया व निमोनियां के लिए ओआरएस का वितरण किया जाएगा।
–10-19 वर्ष के किशोर-किशोरियों को शारीरिक परिवर्तन, मेन्स्ट्रुअल हाईजीन, पोषण तथा एसटीआईआरटीआई के बारे में जानकारी दी जाएगी और उन्होंने आईएफए और अल्बेंडाजोल की गोलियों का वितरण किया जाएगा।

इन ग्राम पंचायतों में बनेंगे उप केंद्र
मांगरोल गुर्जर, सिमराही, इस्लामपुर, कबूलपुर, सरवातपुर, कुठावली, बिसराना, बजेहरा, गुतीला, सरोरा, हुमायूंपुर, बनपुर, गिजौली मुस्तकिल, शाहपुर टूला, धनोला कला, थाप महेंद्र वानी, सीला अहीर,भानपुरा, नागर, निमेना, बाईं खेड़ा, रायपुर, भेसोंन लगाए गये।

Post a Comment

0 Comments