जिन्ना का महिमामंडन करने वाले को CM योगी ने बताया तालिबानी, अखिलेश से माफ़ी मांगने को कहा

मुरादाबाद। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मुरादाबाद में प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों को उनके घरों की चाबी दिए. इसके बाद एक जनसभा को संबोधित करते हुए सीएम योगी ने समाजवादी पार्टी के अध्यक्ष अखिलेश सिंह यादव पर जमकर हमला बोला. सीएम योगी ने कहा कि पिछली सरकार में बैठे लोग समाज को बांटने में लगे रहते थे. उनकी विभाजन की प्रवृति अभी तक नहीं गई है. कल मैं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की बातें सुन रहा था. वो इस राष्ट्र को जोड़ने वाले सरदार वल्लभ भाई पटेल की तुलना जिन्ना से कर रहे थे.सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष का बयान अत्यंत शर्मनाक है.

सीएम योगी ने अखिलेश यादव की जिन्ना वाले बयान का पलटवार करते हुए कहा कि सरदार वल्लभ भाई पटेल भारत की एकता और अखंडता के शिल्पी हैं. कल सपा प्रमुख की विभाजनकारी मानसिकता सामने आ गई. जब उन्होंने जिन्ना को समकक्ष रख के सरदार वल्लभ भाई पटेल की तुलना की. ये तालिबानी मानसिकता है. हर वक्त तोड़ने का प्रयास करती है. पहले जाति और अन्य वादों के नाम पर तोड़ने की प्रवृत्ति, जब वो अपने मंसूबों पर सफल नहीं हो रहे हैं, तो महापुरुषों पर लांछन लगाके पूरे के पूरे समाज को अपमानित करने का प्रयास कर रहे हैं. 

सीएम योगी ने आगे कहा कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष के बयान की पूरे समाज को निंदा करनी चाहिए. सपा प्रमुख को अपने इस कृत्य के लिए माफी मांगनी चाहिए. सरदार वल्लभ भाई पटेल के इस अपमान को देश कभी स्वीकार नहीं कर सकता. अखिलेश ने देश को बांटने वाले जिन्ना की तारीफ एक विशेष वोटबैंक को खुश करने के लिए की है. जनता को इनकी तालिबानी मानसिकता को समझना चाहिए और इनसे सावधान रहना चाहिए. 

अखिलेश ने महापुरुषों से की जिन्ना की तुलना, बोले- हिंदुस्तान की आजादी में उनका अहम योगदान, सियासत गरमाई, नही लड़ेंगे चुनाव

उत्तर प्रदेश के हरदोई जिले में समाजवादी विजय रथ यात्रा लेकर पहुंचे सपा मुखिया अखिलेश यादव ने आयोजित जनसभा के दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर जमकर हमला बोला. साथ ही सरदार बल्लभ भाई पटेल के बहाने पाकिस्तान के संस्थापक और भारत के बंटवारे के सूत्रधार मोहम्मद अली जिन्ना का महिमामंडन किया.

हरदोई जिले के माधौगंज कस्बे में लखनऊ पब्लिक स्कूल में आयोजित जनसभा में पूर्व मुख्यमंत्री सपा मुखिया अखिलेश यादव ने कहा कि सरदार पटेल जमीन को पहचानते थे और जमीन को देखकर फैसले लेते थे. इसीलिए आयरन मैन के नाम से जाने जाते थे. साथ ही कहा कि सरदार पटेल, महात्मा गांधी, जवाहरलाल नेहरू और जिन्ना एक ही संस्था से पढ़कर निकले और बैरिस्टर बने और आजादी दिलाई. अगर उन्हें किसी भी तरह का संघर्ष करना पड़ा तो वह पीछे नहीं हटे. 

अखिलेश ने कहा कि आज जो देश की बात कर रहे हैं, वह जाति और धर्म में बांटने की बात कर रहे हैं. दुनिया में हमारे देश की सबसे बड़ी पहचान यही है कि यहां अलग-अलग जाति और धर्म के लोग एक साथ रहने का काम करते हैं. इसलिए हम आज के दिन सरदार पटेल को याद कर रहे हैं, जिन्होंने देश को एक कर दिया रियासतों को खत्म कर दिया था. कोई ताकत ऐसी हो जो जातियों में और धर्म में लड़ाई कराये हम उसकी विचारधारा को नहीं मानेंगे. 

अखिलेश ने तंज कसते हुए कहा कि भाजपा के पास अपना काम दिखाने को नहीं है. वह केवल समाजवादी पार्टी के किए कामों का लोकार्पण करती है. यहां तक कि मुख्यमंत्री जिस हेलिकॉप्टर से उड़ते हैं, जिस सोफे पर बैठते हैं, जिस गाड़ी से चलते हैं, वह भी सपा सरकार का खरीदा हुआ है.  इनका अपना क्या है सोचो इसलिए धुआं उड़ाने वाले लोगों को धुएं में उड़ा दो. 

वहीं अखिलेश यादव ने एलान किया है कि वह आगामी विधानसभा चुनाव नहीं लड़ेंगे. उन्होंने एक निजी चैनल से बातचीत के दौरान ये बयान दिया. अखिलेश यादव विधान परिषद सदस्य रहे हैं और अब जब उन्होंने चुनाव न लड़ने का यह एलान किया है तो स्पष्ट हो गया है कि इस बार भी वह विधान परिषद के जरिए ही सदन के सदस्य बनेंगे. अभी अखिलेश के पास आजमगढ़ लोकसभा सीट की सांसदी है.  

पलटवार कर योगी ने कहा जिन्ना ने देश तोड़ा

अखिलेश यादव के जिन्ना वाले बयान पर सीएम योगी आदित्यनाथ ने पलटवार किया है, योगी ने कहा जिन्ना ने देश तोड़ा। अखिलेश ने जिन्ना,पटेल,नेहरू की तुलना की थी। मुरादाबाद पहुँचे प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने आज मंच से अखिलेश यादव पर जोरदार हमला करते हुए उनकी सोच को ही तालिबानी बता दिया दरअसल योगी सपा अध्यक्ष के उस बयान का जिक्र कर रहे थे , जिसमे अखिलेश यादव ने सरदार पटेल , महात्मा गांधी की तुलना जिन्ना से करते हुए भाषण दिया था, योगी ने मंच से ही कहा कि इन लोगो की मानसिकता ही समाज को तोड़ने की रही है , और शुरू से ही तुष्टिकरण की राजनीति करते आये है।

Post a Comment

0 Comments