मंच पर मुस्लिम नेताओं को न बैठाने की बात पर सपा के ज़िला कार्यालय पर जमकर हुआ हंगामा

मुजफ्फरनगर। समाजवादी के ज़िला कार्यालय पर हुए हंगामे की वीडियो सोशल मीडिया पर तेज़ी से वायरल हो रही है।

दरअसल 11 नवम्बर को ज़िले में पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के कार्यक्रम को लेकर ज़िला कार्यालय पर बैठक बुलाई गयी थी।आरोप है कि कार्यक्रम की रणनीति के दौरान मंच पर मुस्लिम नेताओं को न बैठाने की बात करने पर सपा कार्यालय जंग का अखाड़ा बन गया और ज़िले के दिग्गज नेताओं को मीटिंग छोड़कर आधे घण्टे तक मामला शांत कराना पड़ा।

आरोप है कि कार्यक्रम की रणनीति के दौरान पूर्व दर्जा राज्यमंत्री ने 11 नबम्बर को होने वाले प्रोग्राम के दौरान मंच पर मुस्लिम नेताओं को न बैठाने की बात कह दी जिसके बाद मुस्लिम समाज से तआलुक रखने वाले एक अन्य पूर्व दर्जा राज्यमंत्री ने इस बात पर हंगामा शुरू कर दिया। मामला इतना बढ़ गया कि दोनों नेता व उनके समर्थक एक दूसरे को मारने मरने पर उतारू हो गए।मामला बढ़ता देख ज़िले के अन्य नेताओं ने भारी जद्दो-जहद के बाद दोनों पक्षो को शांत कराया। लेकिन अंत मे भी दोनों पक्ष एक दूसरे को देख लेने की बात कहते नज़र आए।

हंगामे की वीडियो वायरल होने के बाद लोग इसे शेयर करते हुए पूर्व मुख्यमंत्री अखिलेश यादव से सवाल कर रहे हैं कि क्या मुसलमानों को मंच पर बैठने का अधिकार नही है क्या सपा में मुसलमानों को बोट बैंक की तरह ही इस्तेमाल किया जाएगा।

Post a Comment

0 Comments