माधुरी ने किया नाम रोशन, ISRO में बनी साइंटिस्ट, पढ़िए कैसे मिली सफलता

अमरोहा। अमरोहा के एक छोटे से गांव की माधुरी पूर्णा प्रजापति का चयन इसरो में हुआ है. बेटी की सफलता पर परिवार में खुशी का माहौल है. वहीं, माधुरी ने बेंगलुरु से एक वीडियो जारी किया है. जिसमें उन्होंने अपनी सफलता के लिए परिवारवालों को श्रेय दिया है. 

अमरोहा जनपद के नौगांवा सादात थाना क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले छोटे से गांव अब्बलपुर की रहने वाली माधुरी पूर्णिमा प्रजापति का भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) में वैज्ञानिक के पद पर चयन हुआ है. उनका रिजल्ट 11 अक्टूबर 2021 को आया. बेटी के सेलेक्ट होने की खबर मिलते ही परिजनों में खुशी की लहर दौड़ गई. प्रजापति समाज के लोग भी उनके घर पहुंचे और माधुरी के परिवारवालों को सम्मानित किया. 

पिता टीचर और मां हैं हाउस वाइफ

माधुरी का जन्म 1 मार्च 1997 को हुआ. उनके पिता अमरोहा के राजकीय इंटर कॉलेज में शिक्षक हैं. जबकि मां हाउस वाइफ हैं. माधुरी ने प्राइमरी एजुकेशन अमरोहा के ब्रिलिऐंट स्कॉलर्स पब्लिक स्कूल से की. उच्च प्राथमिक शिक्षा राजकीय इंटर कॉलेज जितुवा पीपल नैनीताल से की. हाईस्कूल परीक्षा 71.8% अंकों के साथ और इंटरमीडिएट 86.5% अंकों के साथ पास की. इसके बाद माधुरी AIEEE के माध्यम से चयनित होकर एम.डी.यू. रोहतक, हरियाणा से इलेक्ट्रॉनिक्स कम्युनिकेशन में बीटेक की डिग्री हासिल की. जिसमें 80.11% अकों के साथ परीक्षा उत्तीर्ण की. इसके बाद 2021 में MNIT इलाहाबाद से फैलोशिप के साथ कम्युनिकेशन सिस्टम इंजीनियरिंग में एमटेक किया. यहां उन्होंने 9.25 सीजीपी हासिल किए. 

अपने कठोर परिश्रम को दिया सफलता का श्रेय

एमएनआईटी इलाहाबाद से ही माधुरी का चयन गेट अकेडमी बैंगलौर में विषय-विशेषज्ञ के पद पर हुआ है. जहां वो वर्तमान में काम कर रही हैं. इसके पहले माधुरी विद्युत विभाग में ऐ.ई. और भाभा एटॉमिक रिसर्च सेंटर में वैज्ञानिक की चयन परीक्षा पास कर इंटरव्यू दे चुकी हैं. माधुरी अपनी सफलता का श्रेय माता-पिता और अपने कठोर परिश्रम को देती हैं. 

Post a Comment

0 Comments