रास्ता कटने व पुल की साइड धंसने से रामपुर जिला मुख्यालय जाने वाले दोनों रास्ते बंद

रामपुर।  टांडा क्षेत्र में आई बाढ़ के कारण लालपुर कोसी पुल पहले ही बंद कर दिया गया था। प्रानपुर का रास्ता कटने व पुल की साइड धंसने से जिला मुख्यालय जाने वाले दोनों रास्ते बंद हो गए हैं।

क्षेत्र के लोग लालपुर कोसी पुल की समस्या से पहले से ही जूझ रहे थे। बरसात से पहले अस्थाई पुल हटा दिया था। चार माह बाद ग्रामीणों की लगातार मांग पर प्रशासन के प्रयास सेतु निगम द्वारा अस्थाई पुल बना दिया था। लेकिन कोसी नदी में आई बाढ़ के कारण पूरी व्यवस्था अस्त व्यस्त हो गई है। बाढ़ के कारण लालपुर कोसी पुल तीन दिन पहले बंद कर दिया था। जबकि वाया सैदनगर प्रानपुर पुल का रास्ता खुला था। लेकिन बुधवार रात प्रानपुर का रास्ता भी कट गया। प्रानपुर पुल की साइड धंसने से वाया प्रानपुर का रास्ता भी पूरी तरह बंद हो गया है। कोतवाली इंचार्ज गजेंद्र सिंह ने बताया कि प्रानपुर से रामपुर जाने वाला रास्ता बंद कर पुलिस तैनात कर दी है। एसडीएम डाक्टर ज्योति गौतम के दिशा निर्देश पर राजस्व टीम ने क्षेत्र के बाढ़ प्रभावित गांव में खाने के पैकेट वितरण कराए।

एसडीएम ज्योति गौतम ने बताया कि बाढ़ से हुए नुकसान के आंकलन को लेखपालों के द्वारा सर्वे कराकर पशु, घर, फसल, मुर्गी पालन आदि के नुकसान का डाटा कलेक्ट किया जा रहा है। उधर क्षेत्र के गांव लोहर्रा, कुंडेसरा, खांडीखेड़ा, सरकथल, सिकंदराबाद फीडरों से जुड़े क्षेत्र के दो दर्ज से अधिक गांव की विद्युतापूर्ति तीन दिन से ठप थी। एसडीओ विद्युत राजदीप सिंह ने बताया कि विद्युत कर्मियों की महनत से सभी फीडरों को ठीक कर विद्युतापूर्ति सुचारू कर दी गई है।

Post a Comment

0 Comments