यहां रेप के बाद भी मज़बूरी में पैदा करना पड़ता है बच्चा

भारत सरकार ने भारत में गर्भपात नियमों को लेकर अपने नियमों में बदलाव किया है। पहले जहां महिलाएं पांच महीने तक गर्भपात करवा सकती थीं, अब इसे बढ़ाकर 6 महीने कर दिया गया है। लेकिन क्या आप जानते हैं कि दुनिया में कुछ देश ऐसे भी हैं जहां गर्भपात कराना बेहद मुश्किल है। इन देशों में अगर गर्भपात निर्धारित सीमा से बाहर किया जाता है तो महिला को सालों तक जेल में डाल दिया जाता है।

2015 में, प्यू रिसर्च सेंटर एनालिसिस द्वारा एक रिपोर्ट जारी की गई थी। इसमें बताया गया कि दुनिया के किन देशों में गर्भपात कराना बेहद मुश्किल है। इसे अपराध की श्रेणी में रखा गया है। रिपोर्ट में पाया गया कि डोमिनिकन रिपब्लिक, अल सल्वाडोर, निकारागुआ, वेटिकन सिटी और माल्टा जैसे देशों में किसी भी मामले में गर्भपात की अनुमति नहीं है।

अल सल्वाडोर की एमनेस्टी इंटरनेशनल की रिपोर्ट के मुताबिक यहां किसी भी हालत में महिलाओं को गर्भपात कराने की इजाजत नहीं है. इसी तरह यह देश महिलाओं के लिए बेहद असुरक्षित है। यहां रेप के मामले काफी देखने को मिलते हैं। इसके बाद भी महिला को अबॉर्शन की इजाजत नहीं है।

माल्टा यूरोपीय संघ का एकमात्र देश है जहां किसी भी परिस्थिति में गर्भपात नहीं किया जा सकता है। इस अपराध में यहां के लोगों को 18 महीने से लेकर 3 साल तक की सजा हो सकती है। वहीं गर्भपात करने वाले व्यक्ति को 18 महीने से लेकर 4 साल तक की कैद हो सकती है और उसका दवा व्यवसाय करने का लाइसेंस भी रद्द हो जाता है.

Post a Comment

0 Comments