हिला राष्ट्रीय मुक्केबाजी के दूसरे दिन दूसरे दौर में पहुंचीं जैस्मीन, बासुमतारी

हिसार ,23 अक्टूबर। एशियाई चैंपियनशिप में कांस्य पदक जीतने वाली जैस्मीन और गत चैंपियन असम की पविलाओ बसुमतारी ने हरियाणा के हिसार में सेंट जोसेफ इंटरनेशनल स्कूल में चल रही 5वीं एलीट महिला राष्ट्रीय मुक्केबाजी चैंपियनशिप के दूसरे दिन शुक्रवार को 60 किग्रा भार वर्ग में जीत हासिल किया।
हरियाणा का प्रतिनिधित्व करते हुए, जैस्मीन ने अपने शुरुआती दौर के मुकाबले में छत्तीसगढ़ की राजबाला को एकतरफा अंदाज में 5-0 से हराया, जबकि बासुमतारी ने कर्नाटक की थीर्थ लक्ष्मी के खिलाफ पावर बॉक्सिंग और फुर्तीला प्रदर्शन करते हुए दूसरे दौर में जगह बनाई।
जैस्मीन ने जहां बार-बार अपने प्रतिद्वंद्वी के हर फैसले को गलत साबित किया वही बासुमतारी ने मुकाबला शुरू होने के साथ ताबड़तोड़ मुक्के बरसाने शुरू किए। थीर्था लक्ष्मी के खिलाफ उनके मुक्के इतने जबरदस्त थे कि रेफरी को मुकाबला बीच में ही रोकना पड़ा और उन्हें विजेता घोषित किया।
इस प्रतिष्ठित आयोजन के दूसरे दिन 49 मुकाबलों का आयोजन किया गया, जिसमें देश भर के 36 राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों तथा बोर्डों के 320 से अधिक मुक्केबाज हिस्सा ले रहे हैं टूर्नामेंट की मेजबानी बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया और हरियाणा बॉक्सिंग संघ द्वारा की जा रही है।
गुजरात की हरदीक कौर गिल (60 किग्रा) ने भी लद्दाख की रिग्जेन त्सोमो के खिलाफ एकतरफा अंदाज में 5-0 से जीत हासिल करने के लिए एक साफ-सुथरा प्रदर्शन किया।
इस बीच, महाराष्ट्र के मुक्केबाजों ने चैंपियनशिप में अपना अच्छा प्रदर्शन जारी रखा है। महाराष्ट्र की लक्ष्मी मेहरा ने सिक्किम की सरमिला राय के खिलाफ रेफरी स्टॉपिंग द कॉन्टेस्ट (आरएससी) द्वारा जीत हासिल की औऱ 63 किग्रा भार वर्ग के दूसरे दौर में जगह बनाई।
चंडीगढ़ की नीमा 63 किग्रा भार वर्ग में शीर्ष फार्म में थीं। नीमा ने उत्तराखंड की नेहा कास्न्याल को 4-1 से हराया। मध्य प्रदेश की श्रुति यादव ने 66 किग्रा भार वर्ग के शुरुआती दौर में चंडीगढ़ की अंजू के खिलाफ 5-0 के सहज अंतर से जीत दर्ज की। अंजू के पास यादव के मुक्कों और सिर पर साधे गए शॉट्स का कोई जवाब नहीं था। इस तरह प्रतियोगिता का दूसरा दिन शानदार नोट पर समाप्त हुआ।
कोविड-19 महामारी के बाद घरेलू सर्किट के फिर से शुरू होने के बाद से यह छठी राष्ट्रीय चैंपियनशिप है, जिसका आयोजन बॉक्सिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (बीएफआई) करा रहा है। इससे पहले बीएफआई ने जूनियर, युवा और पुरुषों के राष्ट्रीय चैम्पियनशिप का सफल आयोजन किया है।
इस चैंपियनशिप के स्वर्ण और रजत पदक विजेता राष्ट्रीय कोचिंग शिविर में स्थान अर्जित करेंगे। प्रत्येक श्रेणी में शिविर के लिए शेष दो नामों का चयन सेलेक्शन ट्रायल में उनके प्रदर्शन के आधार पर किया जाएगा, जो कि इस प्रतियोगिता के ठीक बाद आयोजित होगा। ट्रायल्स में, कांस्य पदक विजेता पिछली राष्ट्रीय चैंपियनशिप-रेलवे स्पोर्ट्स प्रमोशन बोर्ड (आरएसपीबी), हरियाणा और अखिल भारतीय पुलिस की शीर्ष -3 टीमों की दूसरी टीम का प्रतिनिधित्व करने वाले मुक्केबाजों के साथ प्रतिस्पर्धा करेंगे।
 

Post a Comment

0 Comments