AIIMS में मेडिकल फार्माकोलाॅजी हेतु CMS छात्रा का चयन

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल, कानपुर रोड कैम्पस की प्रतिभाशाली छात्रा गौरी चतुर्वेदी ने मेडिकल फार्माकोलाॅजी में मास्टर्स डिग्री हेतु देश के प्रतिष्ठित आल इण्डिया इन्स्टीट्यूट ऑफ मेडिकल साइन्सेज (एम्स), नई दिल्ली में चयनित होकर लखनऊ का नाम सारे देश में गौरवान्वित किया है। इस कोर्स हेतु देश में जनरल कैटेगरी की मात्र दो ही सीटें हैं, जिनमें से एक पर सी.एम.एस. छात्रा गौरी का चयन हुआ है। सी.एम.एस. के मुख्य जन-सम्पर्क अधिकारी श्री हरि ओम शर्मा ने बताया कि इस कोर्स के उपरान्त यह छात्रा बायोमेडिकल वैज्ञानिक अथवा फार्मा शोधकर्ता बनने के अपने सपने को साकार कर सकेगी। सी.एम.एस. संस्थापक डा. जगदीश गाँधी व सी.एम.एस. कानपुर रोड कैम्पस की वरिष्ठ प्रधानाचार्या डा. विनीता कामरान ने इस अभूतपूर्व सफलता पर गौरी को बधाई दी है।

श्री शर्मा ने बताया कि गौरी चतुर्वेदी ने मान्टेसरी से लेकर आई.एस.सी. तक की अपनी सम्पूर्ण शिक्षा सी.एम.एस. से ही पूरी की है और आई.एस.सी. (कक्षा-12) की परीक्षा 96.3 प्रतिशत अंको से उत्तीर्ण की है। सी.एम.एस. से स्कूली शिक्षा पूरी करने के उपरान्त इन्होंने बिट्स पिलानी से बी.फार्मा का कोर्स पूरा किया। गौरी का मानना है कि कैरियर के क्षेत्र में अनन्त संभावनाएं हैं परन्तु सबसे महत्वपूर्ण है कि अपने मन-मस्तिष्क में अपने लक्ष्य को सदैव महसूस करते रहना चाहिए और पूरे मनोबल से अपने लक्ष्य को प्राप्त करने का प्रयास करना चाहिए। सी.एम.एस. की यह मेधावी छात्रा आगे चलकर विभिन्न दवाओं के प्रभाव का अध्ययन करने एवं दवा विकास के प्रक्रिया में योगदान करने को तत्पर है। सी.एम.एस. अपने छात्रों को उनकी रूचि के क्षेत्र में सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन हेतु सैदव प्रोत्साहित करता है और उन्हें सर्वोत्कृष्ट ज्ञान प्रदान करने के साथ ही उनमें आत्मविश्वास जगाता है। यही कारण है कि उत्कृष्ट ज्ञान व बुद्धिमत्ता से लबालब सी.एम.एस. छात्र शैक्षिक क्षेत्र में विद्यालय का परचम पूरे विश्व में लहरा रहे हैं।

Post a Comment

0 Comments