इंद्र देवता को प्रसन्न करने को मासूम बच्चियों से करवाई गई निर्वस्त्र परेड

भोपाल। मध्य प्रदेश के दमोह जिले में इंद्रदेवता को खुश करने के लिए मासूम बच्चियों को नंगा घुमाने का मामला सामने आया है. इस मामले को गंभीर मानते हुए राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग (एनसीपीसीआर) ने जिला प्रशासन से रिपोर्ट मांगी है.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, मामला जबेरा विकासखंड के बनिया गांव का है. बुंदेलखंड के कई इलाकों में इंद्रदेव को खुश करने के लिए तरह-तरह के टोटके किए जाते हैं. उन्हीं तरकीबों में से एक यह है कि अगर लड़कियां नग्न होकर देवी की पूजा करती हैं, तो इंद्रदेव प्रसन्न हो जाते हैं, और बारिश होती है। इसके तहत पूर्व में आदिवासी बहुल गांव के तालाब में स्नान कर रही छह मासूम बच्चियों को खेरमई के मंदिर में गाय के गोबर से लिप्त कर निर्वस्त्र कर दिया गया.
 
मासूम बच्चियों की रस्म अदा करने का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. इसी आधार पर जिला प्रशासन को भी इस घटनाक्रम का पता चला।

पुलिस अधीक्षक डीआर तेनिवार ने बताया कि कुछ लड़कियों को मंदिर के पास एक तालाब में स्नान करने और मंदिर में गाय के गोबर को मलने के लिए बुलाया गया था। मासूम बच्चियों को मूर्ति के गोबर से लिटाया जाता था। इसी के साथ मेंढ़क को लकड़ी से बांधकर छात्राएं निकलीं, साथ ही महिलाओं ने गीत भी गाए. मामले की जांच की जा रही है।

पुलिस अधीक्षक के मुताबिक, जिन लड़कियों से यह रस्म अदा की गई, उनकी उम्र महज पांच से छह साल है। इस अवसर पर केवल महिलाएं ही मौजूद थीं, कोई पुरुष नहीं था।

Post a Comment

0 Comments