किताबों की जगह हाथों में गुब्बारे लिए भटक रहा मासूम इरफान

अज़ीम अब्बासी

संभल। जिस उम्र में बच्चे खिलौनों से खेलते हैं स्कूली पढ़ाई के साथ-साथ सारा दिन मौज मस्ती में गुज़ार देते हैं उस उम्र में आठ वर्ष का मासूम इरफान गुब्बारे बेचकर परिवार का भरण पोषण कर रहा है। प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ मासूम इरफान का परिवार मूल रूप से लखनऊ के एक नज़दीकी गाँव का निवासी है और फ़िलहाल जनपद मुरादाबाद के पाकबड़ा में रहता है।

जहां से मासूम इरफान बस द्वारा सम्भल आकर प्रतिदिन बाजारों, मार्किट व चौराहों पर गुब्बारे बेच कर अपने परिवार का पेट पाल रहा है। इरफान की माँ पति की बीमारी के चलते उसके पिता की देखभाल में जुटी रहती है।

मासूम इरफान गुब्बारे बेचने निकल पड़ता है। गरीबी की वजह से नहीं मासूम इरफान स्कूली पढ़ाई नहीं कर पा रहा है।

Post a Comment

0 Comments