10 हजार घूस लेते समय पकड़ा गया ब्लाक का सचिव, मचा हाहाकार

राकेश पाण्डेय

लखनऊ। बाराबंकी जिले के एक विकास खंड में तैनात सचिव विनाेद कुमार वर्मा को अयोध्या की एंटी करप्शन टीम ने दस हजार घूस लेते गिरफ्तार कर लिया है।

आरोप है कि इसने पूर्व प्रधान के मानदेय व विकास कार्य के लंबित दो लाख रुपये के भुगतान के एवज में घूस मांगी थी। टीम उसे पकड़ कर थाने लाई जहां बयान दर्ज कर आवश्यक लिखा-पढ़ी की गई। मुकदमा करने के बाद पुलिस ने कोर्ट में पेश किया जहां से जेल भेज दिया गया है।

दरियाबाद ब्लाक के खजुरी गांव के पूर्व प्रधान रामशंकर सिंह ने 19 अगस्त को एंटी करप्शन अयोध्या इकाई में शिकायत दर्ज कराई थी। इसमें आरोप लगाया गया था कि प्रधान पद का बकाया 31 हजार 500 रुपये मानदेय व निर्माण कार्य का दो लाख रुपये बकाया है।

 इसके भुगतान के एवज में ग्राम पंचायत अधिकारी विनोद कुमार दस हजार रुपये की मांग कर रहे हैं। एंटी करप्शन टीम की जांच में आरोपों की पुष्टि हुई। इसके बाद एंटी करप्शन टीम के निर्देशन में धनराशि सचिव को देने का समय तय हुआ। बुधवार की सुबह से ही ब्लाक के आसपास एंटी करप्शन टीम ने डेरा डाल दिया था। 

भ्रष्टाचार निवारण संगठन अयोध्या के प्रभारी निरीक्षक रघुवीर प्रसाद यादव, मुख्य आरक्षी राघवेंद्र, रावेंद्र कुमार, दिलीप कुमार व गोरखपुर इकाई के इंस्पेक्टर अशोक सिंह, लखनऊ एंटी करप्शन टीम के सिपाही चंद्र भान सिंह सचिव पर नजर बनाए हुए थे। बुधवार को ब्लाक में एडीओ पंचायत कार्यालय में सचिव विनोद कुमार को शिकायतकर्ता ने दस हजार रुपये जैसे ही दिए, एंटी करप्शन टीम ने सचिव को रंगेहाथ पकड़ लिया। 

आरोपित के पास से दस हजार रुपये बरामद हुए हैं। प्रभारी निरीक्षक एंटी करप्शन अयोध्या रघुवीर प्रसाद यादव ने बताया कि सचिव घूस लेते हुए रंगेहाथ पकड़ा गया है।

Post a Comment

0 Comments