'हर रविवार मच्छर पर वार' के नियम का पालन करें और डेंगू से बचें

आगरा। कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम के लिए जनपद में कोविड टीकाकरण किया जा रहा है। इसमें समुदाय स्तर पर जाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा लोगों को जागरुक किया जा रहा है। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ. अरुण श्रीवास्तव ने बताया कि अगस्त माह में स्वास्थ्य विभाग द्वारा मेगा वैक्सीनेशन कैंप आयोजित किए गए जिसके अन्तर्गत प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तर पर कोविड वैक्सीनेशन स्वास्थ विभाग के द्वारा कराया गया। इसमें एसमनेट (यूनिसेफ)  ने भी अहम भूमिका निभाई है। टीम के द्वारा स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर सामुदायिक स्तर पर घर-घर जाकर लोगों जागरुक करते हुए कोरोना टीकाकरण का महत्व समझाया है और टीकाकरण केंद्रों पर ले जाकर उनका टीकाकरण कराया है। 

इसके साथ ही स्वास्थ्य विभाग की टीम द्वारा लोगों को टीकाकरण कराने के बाद भी मास्क पहनकर रखने, हाथों को साबुन-पानी से बार-बार साफ करने और शारीरिक दूरी का पालन करने के बारे में भी जागरुक किया जा रहा है। सभी पात्र लाभार्थी कोविड टीके की दोनों डोज अवश्य लगवाएं। कोविड टीकाकरण पूरी तरह से सुरक्षित है। टीका लगवाने के बाद भी कोविड अनुरूप व्यवहार का पालन करें। 

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि कोविड टीकाकरण के प्रति आम जनमानस को कोविड टीकाकरण पर सही जानकारी देकर भ्रांतियों को दूर करके जागरूक किया जा रहा है जिससे सभी को समय से कोविड टीकाकरण लग जाए और मेरी आम जनता से यह अपील है कि आप सभी स्वयं अपना टीकाकरण कराएं और साथ ही अपने परिवार और आसपास के सभी लोगों को कोविड टीकाकरण कराने के लिए प्रेरित करें और कोरोना टीकाकरण कराने के बाद इन बातों का ध्यान रखें।

-टीका लगवाने के बाद भी मास्क पहनकर रखें।
-हाथों को साबुन और पानी से बार-बार साफ करते रहें।
-टीकाकरण कराने के बाद भी सार्वजनिक स्थल पर शारीरिक दूरी का पालन करें।

वैक्सीनेशन के दौरान यूनिसेफ के डीएमसी मधुमिता द्वारा स्वास्थ्य विभाग के साथ मिलकर टीकाकरण सत्र पर स्थलीय निरीक्षण कर सपोर्टिव सुपरवीजन किया है। यूनिसेफ की टीम द्वारा बिचपुरी, बाह, शाहगंज, मोहम्मदपुर, लखनपुर, फतेहपुर सीकरी, फतेहाबाद क्षेत्र में घर-घर जाकर सामुदायिक स्तर पर लोगों को कोविड टीकाकरण के लिए जागरुक किया है और उनका टीकाकरण कराया है।

मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने कहा कि वर्तमान में मच्छरों का घनत्व बढ़ रहा है जिसके कारण वैक्टर जनित रोग फैलने की सम्भावना है , स्कूल खुल रहे हैं काफी समय से स्कूल बन्द रहे हैं उन की छतों पर कूड़े की वजह से पानी भरा हो सकता है जहाँ पर मच्छर पनपते हैं अतः विशेष रूप से उनकी स्वच्छता का ध्यान रखते हुए उनकी सफाई कराना आवश्यक है। स्कूल में बच्चों को जागरुक करते हुए" हर रविवार मच्छर पर वार "कार्यक्रम के अन्तर्गत प्रमुख बातों का पालन कर डेंगू को फैलने से रोका जा सकता है।

-डेंगू हमेशा साफ पानी में पनपता है इसलिए सर्व प्रथम हमें ये ध्यान रखना चाहिए कि पानी को अधिक दिनों तक इकट्ठा न होने दें।
-गमले के नीचे रखी प्लेट, पशु पक्षियों के पानी पीने वर्तन, फ्रिज के पीछे , छतों पर रखे कबाड़, पुराने टायर ऐसी जगहों पर पानी अधिकांशतः भर जाता है. इसलिए हर सप्ताह इन जगहों की सफाई अवश्य करें पानी को न ठहरने दें चाहें तो सप्ताह का एक दिन निश्चित कर लें जैसे रविवार।
-बुखार होने पर डाक्टर की सलाह के बिना कोई दवा न लें ।
-सरकारी अस्पताल में खून की जाँच करायें ।
-डेंगू का मच्छर दिन में काटता है इसलिए शरीर को पूरा ढकने वाले वस्त्र ही पहनें।

Post a Comment

0 Comments