केंद्रीय मंत्री रामदास अठावले ने मौलाना कल्बे जवाद से की मुलाकात

लखनऊ। केन्द्रीय सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता राज्यमंत्री राम दास अठावले ने शनिवार को मजलिस उलेमा-ए-हिंद के महासचिव और इमामे जुमा मौलाना सैयद कल्बे जवाद नकवी के साथ उनके आवास पर मुलाक़ात की। मुलाकात के समय मौलाना रज़ा हुसैन, मौलाना हसनैन बका़ई और अन्य लोग मौजूद थे। बैठक के बाद मौलाना कल्बे जवाद नकवी ने कहा कि बैठक बहुत सौहार्दपूर्ण माहौल में हुई और केंद्रीय मंत्री राम दास अठावले के साथ कई महत्वपूर्ण मुद्दों पर चर्चा हुई। 

मौलाना ने कहा, “हमने मांग की है कि मुसलमानों, विशेषकर शियों को उस आरक्षण में शामिल किया जाए जो सरकार पिछड़े वर्गों को दे रही है क्योंकि मुसलमानों में शिया सबसे अधिक आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़े हुए हैं जिनके विकास के लिए किसी सरकार ने कुछ नहीं किया। साथ ही कश्मीर के शियों को भी आरक्षण में विशेष कर शामिल करना चाहिए क्योंकि कश्मीर के शिया भी अत्यधिक पिछड़ेपन का शिकार है जिनके विकास के लिये कोई काम नहीं हुआ।“
मौलाना ने कहा कि हमने शिया वक्फ बोर्ड के बारे में भी विस्तार से बात की और उत्तर प्रदेश में सरकार से शिया वक्फ बोर्ड के गठन की प्रक्रिया को जल्द से जल्द पूरा करने को कहा, क्योंकि पुराने मुतवल्ली अभी भी बहुत भ्रष्टाचार कर रहे हैं और उन्हें रोकने वाला कोई नहीं है।
मौलाना ने कहा कि हमने केंद्रीय राज्यमंत्री से शिया कॉलेज के मसाएल और भ्रष्टाचार के बारे में भी बात की और उन्हें बताया कि कैसे कॉलेज के एक मामूली शिक्षक ने भी करोड़ों का बंगला बनवाया है जिसका लखनऊ में कोई उदाहरण नहीं है। मौलाना ने मांग की कि शिया कॉलेज में जारी भ्रष्टाचार की जांच होनी चाहिए कि आखि़र एक कॉलेज के शिक्षक और उनके परिवार के पास इतना पैसा कहां से आया।
मौलाना ने कहा कि केंद्रीय मंत्री ने उन्हें आश्वासन दिया है कि वह हमारी मांगों को सरकार के सामने रखेंगे और उन्हें जल्द से जल्द पूरा करने के लिए कदम उठाए जाएंगे।

Post a Comment

0 Comments