प्यार की खातिर भाई का कत्ल कराया, प्रेमी समेत गिरफ्तार

मुरादाबाद। मुगलपुरा पुलिस व सर्विलांस सैल की संयुक्त टीम द्वारा षडयन्त्र रचकर बहन द्वारा अपने प्रेमी व अन्य सहयोगियों के साथ मिलकर सौतेले भाई की हत्या करने की घटना का खुलासा कर 02 अभियुक्तों को गिरफ्तार किया गया ।

दिनांक 02.08.2021 को वादी ओमप्रकाश पुत्र सालिक राम निवासी मोहल्ला लालबाग रामंगगा कालोनी गली न0 3 थाना मुगलपुरा, मुरादाबाद की तहरीर के आधार पर थाना मुगलपुरा पर मु0अ0सं0 150/2021 धारा 365 भा0द0वि0 पंजीकृत किया गया, जिसमें वादी उपरोक्त ने अपने बेटे गगन उर्फ गौतम उम्र 28 वर्ष को करीब 12 दिन पूर्व घर से बिना बताये चले जाने तथा अपनी बेटी नन्दनी व प्रदीप द्वारा कहीं गायब कर देने का उल्लेख किया गया था।

उक्त घटना के अनावरण हेतु वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक, मुरादाबाद के निर्देशन में, पुलिस अधीक्षक नगर के पर्यवेक्षण एवं सहायक पुलिस अधीक्षक/क्षेत्राधिकारी कोतवाली,मुरादाबाद के नेतृत्व में थाना मुगलपुरा व सर्विलांस सैल की संयुक्त टीम गठित की गयी।

उक्त के क्रम में आज दिनांक 03.08.2021 को थाना मुगलपुरा पुलिस ने अभियुक्तगण 1.ममता पुत्री रमेश प्रजापति निवासी लालबाग रामगंगा कालोनी थाना मुगलपुरा, मुरादाबाद हाल निवासी जिगर कालोनी थाना सिविल लाईन, मुरादाबाद 2.वीरू उर्फ हरीश पुत्र मुन्नू उर्फ मुनेश निवासी नई आबादी जयन्तीपुर थाना मझोला, मुरादाबाद को गिरफ्तार कर अभियुक्त वीरू उर्फ हरीश की निशादेही पर मृतक गगन उर्फ गौतम के शव को जयन्तीपुर के नाले से बरामद किया गया।

अभियुक्ता ममता पुत्री रमेश प्रजापति निवासी लालबाग रामगंगा कालोनी थाना मुगलपुरा, मुरादाबाद हाल निवासी जिगर कालोनी थाना सिविल लाईन, मुरादाबाद व अभियुक्त वीरू उर्फ हरीश पुत्र मुन्नू उर्फ मुने निवासी नई आबादी जयन्तीपुर थाना मझोला, मुरादाबाद ने पूछताछ पर बताया कि नन्दनी ने सह-अभियुक्तों के साथ मिलकर योजना बनाकर अपने सौतेले भाई गगन उर्फ गौतम की हत्या करायी है, क्योंकि गगन उर्फ गौतम नन्दनी को प्रदीप से शादी करने का विरोध करता था, सह अभियुक्तगण प्रदीप पुत्र चुन्नीलाल निवासी लालबाग रामगंगा कालोनी थाना मुगलपुरा, मुरादाबाद व नन्दनी पुत्री ओमप्रकाश निवासी लालबाग रामगंगा कालोनी गली न0 3 थाना मुगलपुरा, मुरादाबाद के साथ मिलकर योजना बनाकर नन्दनी के सौतेले भाई गगन उर्फ गौतम को हर्वल पार्क थाना मझोला, मुरादाबाद क्षेत्र में बुलाकर कोल्ड्रिंक में नशे की गोली मिलाकर पिला दी थी तथा नशे की हालत में गगन उर्फ गौतम को जयन्तीपुर खाली प्लाटो में ले गये थे, वहाँ गगन उर्फ गौतम को और शराब पिलाई गयी, जब वह बेहोशी की हालत में हो गया तो गमछे से गला घोटकर प्रदीप व वीरू उर्फ हरीश ने गगन उर्फ गौतम की हत्या कर दी । उसी गमछे से उसके पैर बांधकर दो कट्टो में सात-सात ईटें बांधकर सबूत नष्ट करने के उद्देश्य से शव को जयन्तीपुर के नाले में गिरा दिया था।

Post a Comment

0 Comments