पालतू कुत्ते को बचाने के चक्कर मे 9वीं मंजिल से गिरकर 12 साल की बच्ची की दर्दनाक मौत

गाजियाबाद। गाजियाबाद में एक दर्दनाक हादसा हुआ है. जिले के कवि नगर में गौर होम सोसाइटी में बुधवार को एक फ्लैट की नौवीं मंजिल से गिरकर 12 साल की बच्ची और उसके पालतू कुत्ते की मौत हो गई. जानकारी के अनुसार छात्रा ज्योत्सना अपने पालतू कुत्ते को बचाने की कोशिश कर रही थी. इस दौरान ये हादसा हो गया.

जानकारी के अनुसार ज्योत्सना का पालतू कुत्ता बालकनी की लोहे की ग्रिल के बीच फंस गया था. ज्योत्सना उसकी निकालने की कोशिश कर रही थी. इसी दौरान वो फिसल गई और कुत्ते के साथ नीचे गिर गई. ज्योत्सना के परिवार ने पोस्टमॉर्टम करवाने और पुलिस में शिकायत करने से इनकार कर दिया है. वहीं पुलिस ने इसे दुखद हादसा बताया है.

ग्रिल में फंसी कुत्ते की गर्दन पुलिस ने बताया कि ज्योत्सना शर्मा अपने कमरे में कुत्ते के साथ खेल रही थी. तभी अचानक वो बालकनी की ओर भागी. इस दौरान उसकी मां रसोई में काम कर रही थी. जबकि पिता ललित काम पर बाहर गए हुए थे. खेलते समय कुत्ते की गर्दन बालकनी की लोहे की दो ग्रिलों के बीच फंस गई. ज्योत्सना ने उसे पीछे खींचने की कोशिश की. लेकिन वो कु्त्ते को निकाल नहीं पाई.

पैर फिसलने से हुआ हादसा
इसके बाद कुत्ते को नीचे गिरने से बचाने के लिए वो कुर्सी के ऊपर खड़ी होकर उसे बचाने की कोशिश करने लगी. जैसे ही वो कुत्ते को बचाने के लिए नीचे गिरने से झुकी को उसका पैर फिसल किया और वो बालकनी की दीवार से फिसलकर लॉब की रेलिंग के जाल पर गिर गई. इसके बाद उसने मदद के लिए आवाज लगाई.गार्ड और अन्य लोगों ने अस्पताल पहुंचाया लेकिन प्लास्टिक की रस्सी ज्यादा देर वजन नहीं सह पाई. इसके बाद ज्योत्सना और उसका कुत्ता दोनों नीचे गिर गए. इस दौरान ज्योतना की मां रसोई से भागती हुईं आई लेकिन उसे बचा नहीं पाई. पुलिस ने बताया कि गार्ड ने अन्य लोगों के साथ मिलकर खून से लथपथ बच्ची को तुरंत अस्पतला पहुंचाया. यहां डॉक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया. पुलिस के अनुसार ज्योत्सना अपने माता-पिता की इकलौती बेटी थी.

Post a Comment

0 Comments