दो अगस्त से कॉलेजों में सेमेस्टर की कक्षा छोड़ अन्य विषयों की कक्षाएं नहीं लगेंगी

महासमुंद। आंगनबाड़ी केंद्र, स्कूल व कॉलेज अनलॉक हो गए है। 2 अगस्त से पढ़ाई शुरू करने के आदेश शिक्षा व उच्च शिक्षा विभाग ने आदेश जारी कर दिया है। आंगनबाड़ी केंद्र खुल गया है। 2 अगस्त से दसवीं व बारहवीं की कक्षाओं में भी पढ़ाई स्कूल के माध्मय से कराया जाएगा, लेकिन महाविद्यालय में स्नातक व पीजी की कक्षाएं नहीं लगेंगी। सिर्फ सेमेस्टर की ही कक्षाएं लगेंगी। इसका कारण कि अभी तक बच्चों का प्रवेश नहीं हुआ है। महाविद्यालयों के छात्र-छात्राओं को कॉलेज आने के लिए अभी और इंतजार करना होगा।

इधर, प्रवेश के लिए पं. रविशंकर शुक्ल विश्वविद्यालय ने मार्गदर्शिका जारी तो कर दिया है, लेकिन उसकी प्रक्रिया 1 अगस्त से शुरू होगी जो, 15 सितंबर तक चलेगी। ऐसे में बच्चों के प्रवेश सितंबर महीने तक होगी। बता दें कि इस बार कोरोना संक्रमण के कारण प्रवेश को लेकर देरी हो गई है। पूर्व में 15 अगस्त तक प्रवेश की प्रक्रिया पूरी हो जाती है, लेकिन इस बार उच्च शिक्षा से आदेश नहीं आने के कारण लेट लतीफी हो गई है। कोरोना संक्रमण के कारण इस साल भी संशय में था कि स्कूल व कॉलेज खोलेंगे या नहीं। वर्तमान में कोरोना का प्रतिशत राजधानी को छोड़कर अन्य जिलों में काफी गिर गया है। इसके चलते उच्च शिक्षा व स्कूल विभाग ने संचालन का आदेश दे दिया है। वहीं सबसे बड़ी विडंबना है कि अभी तक स्नातक व पीजी कक्षाओं का परीक्षा परिणाम भी जारी नहीं हुआ है। परीक्षा परिणाम जारी करने के में भी देरी हो रही है। इस संबंध में माता कर्मा कन्या महाविद्यालय के प्राचार्य रमेश देवांगन का कहना है कि कक्षाओं के संचालन का आदेश आ गया है, लेकिन बच्चों का प्रवेश ही नहीं हुआ है, तो पढ़ाई कैसे होगी?। उन्होंने कहा केवल सेमेस्टर की कक्षाएं लगेंगी। प्रवेश के बाद ही कक्षाएं शुरू होंगी। 

प्रवेश व अध्ययन को लेकर छात्र-छात्राएं कर रहे इंतजार 
कोरोना काल में पिछले दो साल से पढ़ाई नहीं हुई है। इस साल कॉलेज खुलने के आदेश के बाद विद्यार्थियों के चेहरों में खुशी झलक रही है, लेकिन प्रवेश प्रक्रिया में हो रही देरी से परेशान है। वे इंतजार में है कि जैसे ही पोर्टल खुलेगा, तत्काल प्रवेश लेकर पढ़ाई के लिए कॉलेज पहुंचेंगे, लेकिन उन्हें अभी इंतजार करना होगा। पूर्व कक्षाओं में दिए परीक्षा का परिणाम भी अभी जारी नहीं हुआ है। धीरे-धीरे परिणाम जारी किया जा रहा है। इसके बाद वे प्रवेश लेंगे फिर पढ़ाई के लिए महाविद्यालय आएंगे। 

15 सितंबर तक चलेगा प्रवेश, कहीं खुलने से पहले बंद न हो जाए? कॉलेज ! 
महाविद्यालय में पढ़ाई दो अगस्त से शुरू होगी, लेकिन बड़ी विडंबना है कि प्रवेश का दौर 15 सितंबर तक चलेगा। यदि निर्धारित तय तिथि तक प्रवेश की प्रक्रिया चलेगी तो कक्षाएं कब लगेंगी। इधर, तीसरी लहर सितंबर में आने की संभावना व्यक्त की जा रही है। सितंबर में केस बढऩे लगे तो कॉलेज खुलने से पहले ही बंद हो जाएंगे। बता दें कि रविवि विश्वविद्यालय ने 1 अगस्त से प्रवेश की प्रक्रिया शुरू कर रहा है, जो 30 अगस्त तक चलेगा। इसके बाद मेरिट लिस्ट जारी होगा, फिर बच्चों का प्रवेश होगा, यानी सितंबर में ही बच्चे पढ़ाई के लिए महाविद्यालय पहुंचेंगे। वहीं प्राचार्य की विशेष अनुमित से 15 सितंबर तक प्रवेश निर्धारित की गई है। ऑनलाइन प्रवेश के लिए कोविड- 19 को देखते हुए दिशा-निर्देश जारी कर दिया गया है।

Post a Comment

0 Comments