3टी प्रयोग में कोरोना संक्रमण में निरन्तर कमी आ रही है : सहगल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के अपर मुख्य सचिव ‘सूचना’ नवनीत सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री जी के 3टी ट्रेस, टेस्ट और ट्रीट अभियान के साथ-साथ अभिनव प्रयोग करते हुए आशिंक कोरोना कर्फ्यू तथा टीकाकरण से प्रदेश में कोरोना नियंत्रण पर सफलता मिली। इस अभिनव प्रयोग में कोरोना संक्रमण में निरन्तर कमी आ रही है। प्रदेश में संक्रमण अन्य प्रदेशों की तुलना में न्यूनतम स्तर पर है।

मुख्यमंत्री द्वारा स्वयं गांव/शहर निगरानी समितियों से वार्ता, कन्टेनमेंट जोन/कोविड-19 से रिकवरी करने वाले से वार्ता और इन्ट्रीग्रेटेड कन्ट्रोल रूम तथा कोविड अस्पतालों में स्थलीय निरीक्षण किया गया है। निरीक्षण के क्रम में आज मुख्यमंत्री जनपद बागपत में अस्पताल तथा सम्भावित तीसरी लहर की तैयारी की समीक्षा की और निरीक्षण किया गया है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 07 जिले कोविड-19 से मुक्त हो गये है। 41 जनपदों में संक्रमण का एक भी नया केस नहीं पाया गया तथा 34 जिलों में इकाई में संक्रमण पाया गया।  

अब तक लगभग 04 करोड़ 63 लाख कोविड की डोज दी जा चुकी है

सहगल ने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा कल मिशन शक्ति अभियान की समीक्षा की जायेगी। मुख्यमंत्री द्वारा 40 हजार से अधिक महिलाओं के स्वयं सहायता संगठनों को सरकार द्वारा मिलने वाली आर्थिक सहायता का चेक वितरण किया जायेगा। उन्होंने बताया कि 3टी के कारण ही 30 अप्रैल के एक्टिव मामले 3,10,783 घटकर आज 787 तथा 30 अप्रैल के प्रतिदिन कोविड केस 38 हजार से घटकर आज 60 हो गये है। प्रदेश में सक्रिय मामले कम होने पर भी कोविड-19 के टेस्ट करने की संख्या घटाई नहीं जा रही हैं। विगत 24 घंटों मे 2,51,287 कोविड टेस्ट किये गये है। प्रदेश में कोविड टीकाकरण का कार्य तेजी से किया जा रहा है। कल लगभग 5,81,000 कोविड डोज दी गयी है। अब तक लगभग 04 करोड़ 63 लाख कोविड की डोज दी जा चुकी है। उन्होंने बताया कि निगरानी समितियों के माध्यम से घर-घर सर्वेक्षण करके संक्रमण की जानकारी ली जा रही है तथा टेस्ट भी कराये गये, इसके साथ-साथ मेडिकल किट भी बांटी गयी है। उन्होंने बताया कि सर्विलांस के माध्यम से सरकारी मशीनरी द्वारा उत्तर प्रदेश की 24 करोड़ की जनसंख्या में से अब तक लगभग 17.25 करोड़ से अधिक लोगों से उनका हालचाल जाना गया है।

तीसरी लहर के दृष्टिगत बच्चों के लिए 6700 से अधिक पीकू बेड तैयार

सहगल ने बताया कि सम्भावित तीसरी लहर से पहले राज्य सरकार ने व्यापक तैयारी की है। उन्होंने बताया कि प्रदेश सरकार द्वारा कोविड-19 की संभावित तीसरी लहर के दृष्टिगत बच्चों के लिए 6700 से अधिक पीकू बेड तैयार कर लिये गये है। अस्पतालों को ऑक्सीजन की उपलब्धता सुलभ हो इस हेतु 549 ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किये गये, जिसमें 250 ऑक्सीजन प्लांट संचालित हो गये, शेष शीघ्र ही संचालित हो जायेंगे। उन्होंने कहा कि कोविड संक्रमण अभी पूरी तरह समाप्त नहीं हुआ है। सभी लोगों को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। सभी लोग कोविड अनुरूप आचरण का पालन करे।

Post a Comment

0 Comments