DM : मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सैम्पलिंग, सर्विलांस और टीकाकरण कार्यों में तेजी लाई जाए

DM : मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सैम्पलिंग, सर्विलांस और टीकाकरण कार्यों में तेजी लाई जाए

देहरादून (डीवीएनए)। “कोविड-19 संक्रमण की सम्भावित तीसरी लहर को निष्क्रिय करने के लिए आवश्यक है कि वर्तमान में मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सैम्पलिंग, सर्विलांस और टीकाकरण कार्यों पर विशेष ध्यान देते हुए इनमें तेजी लाई जाए।”
यह बात जिलाधिकारी डॉ आशीष कुमार श्रीवास्तव ने कोविड-19 संक्रमण की रोकथाम हेतु वर्चुअल माध्यम से आयोजित समीक्षा बैठक में कही। उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारियों, चिकित्साधिकारी एवं एमओआईसी को आपसी समन्वय से दिए गए लक्ष्यों के अनुसार योजना तैयार करते हुए टीकाकरण एवं सैम्पलिंग कार्यों को पूर्ण करने के निर्देश दिए।
जिलाधिकारी ने अपर जिलाधिकारी प्रशासन, समस्त उप जिलाधिकारी, मुख्य चिकित्साधिकारी एवं एमओआईसी को निर्देश दिए जनपद की सभी सीमा चैकपोस्ट, आशरोड़ी, रायवाला, दर्रारेट, कुल्हाल, एयरपोर्ट, रेलवे स्टेशन, बस स्टैण्ड से कोई भी व्यक्ति बिना सैम्पल के जनपद में प्रवेश ना करे, इसके लिए समन्वय कर योजना बनाएं ताकि जनपद में आने वाले प्रत्येक व्यक्ति की सैम्पलिंग की जा सके।
जिलाधिकारी ने कहा कि मास्क, सोशल डिस्टेंसिंग, सैम्पलिंग, सर्विलांस और टीकाकरण कार्यों में जितनी अधिक प्रगति होगी कोविड-19 संक्रमण पर उतनी जल्दी काबू पाया जा सकेगा। इसके लिए बेहतर समन्वय के साथ कार्य करने की आवश्यकता है, इसके लिए उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारियों एवं एमओआईसी को विभिन्न माध्यमों से जनमानस को जागरूक करते हुए उनका सहयोग प्राप्त करने को कहा। उन्होंने कहा कि लोगों को यह विश्वास दिलाने की आवश्यकता है कि जितनी सैम्पलिंग और टीकाकारण होगा उतना ही कोविड के प्रसार की सम्भावना कम होगी। इसलिए अधिक से अधिक लोग सैम्पलिंग और टीकाकरण करवाएं और अन्य को भी इसके लिए प्रेरित करें। उन्होंने समस्त उप जिलाधिकारियों को अपने-अपने क्षेत्रों में मास्क एवं सोशल डिस्टेंसिंग का अनिवार्यतरू पालन करवाने तथा इसके लिए पुलिस की सहायता ली जाए पालन ना करने वालो के विरूद्ध चालान की कार्यवाही करते हुए निर्धारित मानकों के अनुरूप कार्यवाही भी की जाए।
जिला प्रशासन देहरादून के विशेष प्रयासों के तहत् घर-घर जाकर टीकाकरण के अन्तर्गत समाज कल्याण विभाग एवं स्वास्थ्य विभाग द्वारा जिला दिव्यांग पुनर्वास केन्द्र की टीम जनपद के विभिन्न स्थानों पर शिविर का आयोजन कर दिव्यांगजनों का टीकाकरण कर रही है और जो दिव्यांग घर से केन्द्र में आने में सक्षम नही है उन्हें घर पर जाकर ही टीका लगाया जा रहा है। अब तक जनपद में 1550 दिव्यांगजनों को कोविड-19 का टीका लगवाया जा चुका है। इसके अतिरिक्त जनपद के विकासखण्ड चकराता, त्यूनी में 18-44 वर्ष के व्यक्तियों का टीकाकरण किया जा रहा है, जिनमें कोटीकनासर, त्यूना, मगवाड़, जोगियो, थड़ता, टावरा, सुजऊ, सावरा, औली एवं त्यूनी के हनोल, राईगी, शेयिडा, कठग, सैंज, त्यूनी व फैडिन आदि स्थानों पर 96 से 98 प्रतिशत् टीकाकरण किया जा चुका है।
जिलाधिकारी डॉं0 आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया है कि जनपद में कोरोना वायरस संक्रमण के दृष्टिगत प्राप्त हुई रिपोर्ट में 67 व्यक्तियों की रिपोर्ट पॉजिटिव प्राप्त होने के फलस्वरूप जनपद में आतिथि तक कोरोना से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या 110287 हो गयी है, जिनमें कुल 106050 व्यक्ति उपचार के उपरान्त स्वस्थ हो गये हैं। वर्तमान में जनपद में 231 व्यक्ति उपचाररत हैं। आज जांच हेतु कुल 2293 सैम्पल भेजे गए। जनपद में जिला प्रशासन द्वारा 26 एवं एसडीआरएफ द्वारा 09 तथा विभिन्न विकासखण्डों में 15 होम आयशोलेशन किट का वितरण किया गया। आपदा कन्ट्रोलरूम में होमआयशोलेशन में रह रहे व्यक्तियों एवं वृद्धजनों की सहायता हेतु स्थापित हेल्पलाईन पर आज कोई कॉल प्राप्त नही हुई। इसी प्रकार आज कोविड कन्ट्रोलरूम से होमआयशोलेशन में रह रहे 69 व्यक्तियों से सम्पर्क कर उनके स्वास्थ्य के बारे में जानकारी प्राप्त की गई। आज नगर क्षेत्र में कुल 2.50 लाख तथा अब तक कुल 29.96 लाख आईवरमैक्टिन दवा का वितरण बीएलओ के माध्यम से किया गया।

Post a Comment

0 Comments