Tuesday, 8 June 2021

सिर कटी लाश की गुत्थी सुलझाने में पुलिस के छूट रहे छक्के!

विनोद मिश्रा 
बांदा।
शहर कोतवाली क्षेत्र के मवई बुजुर्ग गांव में कुएं में मिले सिर कटे युवक के शव की गुत्थी सुलझाने में फिलहाल पुलिस नाकाम है। शिनाख्त तो दूर शव का सिर भी अब तक पुलिस नहीं ढूंढ सकी। पुलिस अब सिर की तलाश में पानी से लबालब कुआं खाली कराने की कोशिश में जुटी है।

शहर मुुख्यालय से सटे मवई गांव में शुक्रवार को बबूल के जंगल के बीच स्थित कुएं से सिर कटा शव मिला था। पुलिस के मुताबिक, अज्ञात शव 30 वर्षीय युवक की बताई गई। धारदार हथियार से बेरहमी से कत्ल करने के बाद शव धड़ कुएं में फेंक दिया गया। सिर गायब था। सिर की तलाश और शिनाख्त में पुलिस के पसीने छूट रहे हैं। चार दिनों से लगातार पुलिस घटनास्थल का बारीकी से निरीक्षण कर रही है, लेकिन अब तक कोई सफलता पुलिस के हाथ नहीं लगी। न सिर मिला और न ही शिनाख्त हो सकी। हत्या की गुत्थी सुलझाने के लिए अंधेरे में तीर चला रही है।
सोमवार को भी पुलिस अधिकारियों ने घटनास्थल पर लगभग दो घंटे तक जांच-पड़ताल की। कोई सुराग नहीं मिला। सिर की तलाश के लिए कुआं खाली करने का प्रयास किया गया, लेकिन कुएं की गहराई ज्यादा होने से मोटर पानी निकालने में फेल हो गई। क्षेत्राधिकारी नगर राकेश कुमार ने बताया कि कुआं खाली कराने को नगर पालिका ठेकेदारों से मोटर के लिए संपर्क किया जा रहा है। मोटर मुहैया होते ही कुआं खाली कराकर सिर खोजा जाएगा। फिलहाल अभी तक कोई कामयाबी नहीं मिली। युवक की शिनाख्त के लिए सोशल मीडिया का सहारा लिया गया, लेकिन अभी तक पहचान नहीं हो सकी। 72 घंटे पूरे होने के बाद अज्ञात शव का पोस्टमार्टम कराया गया।
पुलिस अधीक्षक डा. एसएस मीणा के निर्देशन में हत्या की गुत्थी सुलझाने और मृतक की शिनाख्त के लिए चार टीमें लगाई गई है। एक टीम प्रयागराज और कौशांबी जिलों में पिछले आठ दिनों की गुमशुदगी का ब्योरा तलाशने के लिए डेरा डाले है। दूसरी टीम फतेहपुर, तीसरी टीम चित्रकूट और चौथी टीम हमीरपुर व महोबा में गुमशुदा लोगों का रिकार्ड खंगाल रही है। इसके अलावा कोतवाली नगर की दो अलग टीमें घटना के पर्दाफाश के लिए लगी हैं। सीओ नगर राकेश कुमार का कहना है कि शिनाख्त होने के बाद हत्या का पर्दाफाश करने में मदद मिलेगी।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: