Thursday, 6 May 2021

मरीजों को भर्ती करने से नहीं होगा इलाज, चाहिए डॉक्टर नर्सेज व वार्ड बॉय

इंदौर। शासकीय कोविड-19 अस्पतालों में डॉक्टर, नर्सेज, वार्डबॉय की बेहद कमी के बावजूद शहर के कद्दावर नेताओं मंत्री और अधिकारी फिर भी एमवाय व अन्य शासकीय अस्पतालों के कोविड के मरीजों के लिए बेड बढ़ाने पर तुले हुए हैं। अगर यह बेड बढ़ा दीजिए तो मरीजों का इलाज होने के बजाय उन्हें और गंभीर करने में यह कोई कसर नहीं छोड़ेंगे।

अब कहा जा रहा है कि मेडिकल कॉलेज में अतिम वर्ष एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले छात्रों की ड्यूटी इन अस्पतालों में लगाई जाएगी, इसके लिए ऑन लाइन पंजीयन भी किया जा रहा है। इधर स्वास्थ्य विभाग ने भी इस दिशा में कदम बढ़ाया है जो छात्र-छात्राएं मेडिकल की अंतिम वर्ष की पढ़ाई कर रहे हैं। उनका सहयोग कोरोना वारियर्स के रूप में लिया जाएाग ऐसा कहा जा रहा है। लेकिन इन छात्रों को उन शासकीय अस्पतालों की ओर है जिन्हें कोविड-19 अस्पताल का दर्ज दे दिया गया है। 

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: