Sunday, 30 May 2021

रिश्वत के मामले में एफसीआई के चार अफसर गिरफ्तार

भोपाल। केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने एक लाख रुपए रिश्वत मामले में भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) के संभागीय प्रबंधक, दो प्रबंधकों व एक सहायक को गिरफ्तार किया है। उनके घर की तलाशी में तीन करोड़ एक लाख रुपए नकद, नोट गिनने की मशीन और 387 ग्राम सोना बरामद किया गया है। सभी चारों आरोपियों को सीबीआई की स्पेशल कोर्ट ने दो दिन के पुलिस रिमांड पर सौंपा है। टीम को एक बैंक अकाउंट का भी पता चला है, जिसमें करीब एक करोड़ रुपए की राशि जमा होने की जानकारी है। गत दिवस सीबीआई ने आरोपियों को कोर्ट में पेश किया, जहां से उन्हें दो जून तक के लिए रिमांड पर सौंपा है।

तलाशी के दौरान जानकारी मिली कि एफसीआई के सभी अफसर अपनी काली कमाई क्लर्क किशोर मीणा के घर पर रखते थे। सीबीआई की एंटी करप्शन टीम ने बीती रात गुडग़ांव स्थित सिक्योरिटी कंपनी कैप्टन कपूर एंड संस का बिल पास करने के लिए एक लाख रुपए की रिश्वत लेते हुए गिरफ्तार किया था। इस कंपनी का सालाना बिल 11 लाख रुपए का बनता है। बीती रात कंपनी के सिक्योरिटी मैनेजर मोहन पराते माता मंदिर पर रिश्वत के एक लाख रुपए लेकर एफसीआई के एकाउंट मैनेजर अरुण श्रीवास्तव को देने आए थे। सीबीआई ने अरुण को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। इस मामले में एफसीआई के मंडल प्रबंधक हर्ष हिनयाना और क्लर्क किशोर मीणा भी शामिल थे। सिक्योरिटी कंपनी के मैनेजर को यह राशि क्लर्क मीणा के घर पहुंचाने के लिए डिविजनल मैनेजर हर्ष ने फोन पर कहा था, जिसे सीबीआई ने सुना भी।

इसलिए सीबीआई ने हर्ष और मीणा को भी गिरफ्तार कर लिया। सोने-चंदी के साथ एक डायरी भी बरामद हुई- सीबीआई की टीम ने भोपाल में अभियुक्तों के कार्यालय और घरों सहित छ: स्थानेां पर तलाशी ली, इसमें तीन करोड़ एक लाख रुपए नकद, 387 ग्राम सोने के आभूषण और 670 ग्राम चांदी के लेख, आभूषण और कुछ दस्तावेज भी बरामद किए गए। कुछ बंडलों में नाम, तारीख और राशि आदि का विवरण भी लिखा हुआ था। कुछ नकद राशि घरों में तिजोरी में मिली थी, जिसे लकड़ी की अलमारी में छुपाया गया था। तलाशी के दौरान सीबीआई की टीम को एक नोट गिनने की मशीन भी मिली है। इसके अलावा, एक डायरी भी बरामद की गई है। बताया गया है कि इस डायरी में राशि का रिकॉर्ड दर्ज है। इस डायरी में प्राप्त नकद राशि, तिथि, नाम आदि शामिल थे। आरोपियों से लगातार पूछताछ जारी है। रिमांड के दौरान सीबीआई को इनके द्वारा किए गए भ्रष्टाचार और निवेश की जानकारी मिलने की उम्मीद है। इनसे जो डायरी और हिसाब आदि जब्त कयि गया है, उसकी जांच की जा रही है।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: