Tuesday, 4 May 2021

माफिया से नेता बने बाहुबली ब्रिजेश के धौरहरा में चौथी बार गीता यादव बनी प्रधान

राकेश पाण्डेय

वाराणसी। प्रदेश के वाराणसी जिले में आबादी के लिहाज से जनपद में अपना स्थान रखने वाले चौबेपुर क्षेत्र के धौरहरा गांव ने कई विधायक व जिला पंचायत सदस्य दिए हैं। यह गांव पूर्वांचल में तब सुर्खियों में आया जब यहां के बृजेश सिंह जरायम की दुनिया में पहुंचे।

यहां के निवासी एमएलसी बृजेश सिंह, उनके भतीजे सकलडीहा विधायक सुशील सिंह, अन्नपूर्णा सिंह पूर्व एमएलसी, एमएलसी रहे स्व उदय नाथ सिंह चुलबुल सिंह, सपा के पूर्व विधायक स्व. राजनाथ यादव, एमएल सी रहे स्व छेदी कन्नौजिया तथा जिला पंचायत के प्रथम अध्यक्ष रहे स्व. जयश्री पांडेय, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष किरन सिंह, पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष रहे सुजीत सिंह डाक्टर रहे।

गांव में गीता यादव पत्नी स्व धीरेंद्र यादव ने चौथी बार रिकॉर्ड 1000 मतों से प्रधान पद पर जीत हासिल की। इनके ससुर स्व रघुनाथ यादव व सास प्यारी देवी भी प्रधान रह चुकी हैं। अपने इस पारिवारिक सीट पर पुन: जीत दर्ज कर इतिहास रच दिया है।

बेनीपुर, देईपुर में निवर्तमान प्रधान फिर बने प्रधान
चोलापुर ब्लॉक के ग्राम पंचायत देईपुर और बेनीपुर गांव में निवर्तमान प्रधान फिर प्रधान चुने गए। बेनीपुर से हरिलाल चौहान 417 मत पाकर दोबारा विजई हुए, वहीं ग्रामसभा देईपुर से मदीना बेगम 471 मत पाकर दोबारा प्रधान बनीं। हरिलाल चौहान और मदीना बेगम ने बताया कि जनता ने विकास के नाम पर पुन: वोट दिया है, लोगों को उम्मीद है कि इस बार विकास की कड़ी आगे बढ़ेगी।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: