Sunday, 30 May 2021

आने वाले समय में डिजिटल मीडिया का एक बहुत बड़ा रोल रहेगा: कमलनाथ

भोपाल। कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने आज डिजिटल मीडिया के पत्रकारों से वर्चुअल वार्ता करते हुए कहा की  डिजिटल मीडिया में क्रांति लाएं, 5 साल 10 साल पहले कोई डिजिटल मीडिया की बात नहीं करता था। आज मीडिया का अपना एक महत्व है अपना एक स्थान है। आने वाले समय में डिजिटल मीडिया का एक बहुत बड़ा रोल रहेगा। आज डिजिटल मीडिया को भी काबू करने का प्रयास किया जा रहा है।

कमलनाथ ने कहा की, मैं आप लोगों से कहना चाहता हूं आप कांग्रेस का साथ न दे, कमलनाथ का साथ न दे, पर सच्चाई का साथ जरूर दीजिएगा। क्योंकि आपके ऊपर एक डबल जिम्मेदारी हो जाती है । आप उजागर करें सच्चाई को। मैंने अभी हाल ही में कहा था कि जो मृत्यु हुई है उसमें धोखेबाजी हुई है। मौत के आंकड़ों के उसमें दबाने का काम किया जा रहा है। मैंने 3 हफ्ते पहले मांग करी थी कि जितनी मृत्यु हुई है, श्मशान घाटों में रजिस्टर में सभी जिला में उनके आंकड़े दीजिए। मैं मानता हूं जितनी मृत्यु हुई है उसका 80 प्रतिशत कोरोना से हुई है । कम से कम लाशों के आंकड़े तो हमें मिल जाए सरकार से यह मेरी मांग थी। मुआवजे की बात पर में कहता हूं यह नियम ही गलत है जिसके परिवार में लाश पड़ी है जिसके परिवार का सदस्य गाड़ी ढूंढ रहा है श्मशान घाट कब्रिस्तान में जाने के लिए वह क्या नगरपालिका, नगर निगम में मृत्यु प्रमाण पत्र लेने जाएगा।

उन्होंने कहा जब मैं सरकार से कोई प्रश्न पूछता हूं तो मुझे देशद्रोही कहा जाता है। जब मैं कोई खुलासा करता हूं तो मेरे ऊपर द्घ.द्ब.ह्म्. कर दी जाती है। मैंने ऐसी कौन सी बात कही, में तो सच्चाई लोगो को बताना चाहता हूं , ताकि लोग सच्चाई जान सके। मैंने कहा मेरा भारत महान है पर यह जो आज सुप्रीम कोर्ट की स्थिति पूरे विश्व में देखी है इससे भारत बदनाम हो रहा है, मैं तो इस बदनामी से भारत को बचाने की बात कर रहा हूं। मेरा भारत महान हमारा कितना अच्छा नारा था। देश में ही नहीं पूरे विश्व में आज भारत बदनाम हो रहा है। मैंने तो नाम नहीं रखा इंडियन कोविड, यह सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार ने खुद कहा है। उन्होंने एफिडेविट में यह बात कही डब्ल्यूएचओ ने कहा। इंडियन कोविड यह चीन का है। अपना देश बदनाम नहीं होता यह चीन का कोविड था, इसे आज इंडियन कोविड बना दिया। आज सब देशों ने रोक लगा दी हमारे देशवासी हमारे नागरिक कहीं विदेश नहीं जा सकते सभी एयरलाइंस ने रोक लगा दी इससे क्या देश बदनाम नहीं होता। 

नाथ ने वर्चुअल वार्ता में कहा मुझे सबसे ज्यादा चिंता आज मध्य प्रदेश की है, मध्य प्रदेश के नौजवानों की मध्य प्रदेश के नागरिकों की है। हमारा आज का नौजवान ही मध्यप्रदेश के भविष्य का निर्माण करेगा। आप नहीं करेंगे मैं नहीं करूंगा। आज के नौजवानों में अपनी सोच है समझ। आज के नौजवान को ज्ञान है, आज के नौजवान में तड़प है कुछ करने की, वह रोजगार– व्यवसाय का मौका चाहता है। पर आज हमारी अर्थव्यवस्था चौपट हो गई है। हमारी आर्थिक गतिविधि चौपट हो गई है। अपने देश की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है। अपना देश आगे बढ़ा है आर्थिक गतिविधियो से । लेकिन आज जिनका ठेला है, जिनकी छोटी सी दुकान है जो चार्ट बेचता है जो मिठाई बेंचता है आज वह आर्थिक तंगी से जूझ रहा है। मार्केट से बाहर है अपना धंधा चलाने वाले छोटे छोटे दुकानदारों की आर्थिक गतिविधि से हमारे बाजार चलते हैं। हमारे गांव में किराने की दुकान आर्थिक गतिविधि से चलती है इससे शक्ति बढ़ती है 70 प्रतिशत हमारे देश की। देश की अर्थव्यवस्था कृषि पर आधारित है जो ट्रैक्टर चलाता है जो मजदूरी करता है उसका भविष्य कृषि क्षेत्र से जुड़ा है कोई दिल्ली से मुंबई से यहां बाजार चलाने नहीं आता है। इन सब बातों से मुझे चिंता है ये लोग आज केवल मीडिया मैनेजमेंट, इमेज मैनेजमेंट में लगे हुए हैं। मैं सच्चाई पूछता हूं तो मैं देशद्रोही हो जाता हूं । 
आज आपके पास बैक्सीन है नहीं, इंजेक्शन नहीं है डॉक्टरों की कमी है मरीज को अस्पताल में इलाज नहीं मिल रहा है। आप ने घोषणा कर दी कि 18 साल से ऊपर वालों को वैक्सीनेशन करेंगे जब आप आपके पास बैग से नहीं नहीं है तो आपने किस आधार पर घोषणा की थी। यहां वैक्सीन नहीं है और 6 करोड़ 60 लाख वैक्सीन एक्सपोर्ट कर दिया यह गवर्नमेंट ने कहा । 
केंद्र सरकार कह रहा है राज सरकार को ग्लोबल टेंडर बुलाए आपको 6 महीने पहले बुलाना था। आयात की जगह निर्यात कर रहे हैं। आज एक नई चीज हो गई ब्लैक फंगस किसी देश में नहीं है ब्लैक फंगस खाली अपने देश में है। ब्लैक फंगस कल मैंने अखबार में पड़ा एक नई चीज आ गई आज की स्थिति बहुत ही चिंता का विषय है। आपके मीडिया के साथियों को यह जिम्मेदारी है कि आप सच्चाई उजागर करे। पहले तो कहते थे 60 साल के ऊपर के लोगों को कोविड होता है लेकिन आज तो 18 साल के बच्चों को, छोटे छोटे बच्चों को हो रहा है, बचाव के लिए अपने कोन सी व्यवस्था की। आज किसान परेशान घूम रहा है। आज अर्थव्यवस्था हमारी चौपट हो चुकी होगी। अर्थव्यवस्था की बुनियाद हमारा कृषि क्षेत्र है ।
कमलनाथ ने पत्रकारों से पूछे गए सवाल में कहा कि क्या मुझे गाली देने से किसान की अर्थव्यवस्था सुधर जाएगी क्या बेरोजगारी खत्म हो जाएगी। 
उन्होंने कहा कि कलाकारी की राजनीति, घोषणा की राजनीति का समय खत्म हो गया है । आज लोग समझने लग गए हैं कि सच्चाई क्या है बीजेपी के लोग बौखला गए हैं। लोगो का ध्यान भटकाने की इनकी पुरानी राजनीति है। 
आज जो नदियों में लाश में बह रही है यह सब आप लोगों ने देखी। 
नाथ ने कहा कि कोरोना महामारी से निपटने के लिए जो प्रयास मेरे द्वारा किए गए मैंने किया। मैंने टैंकरों की व्यवस्था की मैंने ऑक्सजिन की व्यवस्था की और समय-समय पर जो भी मुझे लग मैंने इस संकट के समय में लोगों की मदद करने के लिए किया। 
मैंने अपनी सरकार के समय विभिन्न प्रकार के माफियाओं को समाप्त करने के लिए युद्ध स्तर पर अभियान चलाया लेकिन आज एक नया माफिया हमारे प्रदेश में कोविड माफिया सक्रिय हो गया।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: