Sunday, 30 May 2021

चलती बस में लड़की से गैंगरेप, 6 दरिंदों ने खिड़कियां बंद करके उतार दी थी सारी सवारियां

ढाका। चलती बस में 22 वर्षीय युवती से छह लोगों ने दुष्कर्म किया। आरोपियों के नाम आर्यन, शाजू, सुमोन मियां, मुनव्वर, शोहाग और सैफुल इस्लाम हैं। पीडि़ता माणिकगंगज स्थित बहन के घर से नारायणगंज स्थित अपने घर जा रही थी।
नारायणगंज में अपने घर लौटने के लिए शाम करीब साढ़े छह बजे उसने मानिकगंज से बस ली। दूसरी बस पकडऩे के लिए पीडि़ता रात करीब आठ बजे नबीनगर बस स्टैंड पर पहुंची। जैसे ही वह एक और सार्वजनिक परिवहन का इंतजार कर रही थी, सुमन द्वारा संचालित एक नई ग्राम बांग्ला बस, जिसे मोनोवर और सैफुल द्वारा सहायता प्राप्त थी वहां आ गई। उन्होंने कहा कि वे टोंगी स्टेशन रोड की यात्रा के लिए 35 रुपये चार्ज करेंगे। सभी यात्रियों को गंतव्य पर पहुंचने से पहले उतार दिया गया।
चालक ने बस ली और फिर से सावर नबीनगर के लिए रवाना हो गया और बस की खिड़कियां और दरवाजे बंद कर दिए। चलती बस में चालक व उसके सहायक समेत छह लोगों ने महिला से दुष्कर्म किया। पुलिस की एक गश्ती टीम ने बस को रोकने के लिए कहा, और उन्होंने इसे संदिग्ध पाया। इस दौरान युवती की मुलाकात जान-पहचान के एक व्यक्ति नजमुल से हुई। आशुलिया थाने के निरीक्षक जियाउल इस्लाम ने बताया कि जब वे लोग दूसरी बस का इंतजार कर रहे थे, तभी वहां एक बस पहुंची जिसे सुमोन चला रहा था और मुनव्वर तथा सैफुल उसमें सहायक के रूप में मौजूद थे। उन्होंने कहा कि वे टोंगी स्टेशन रोड तक ले जा सकते हैं। जब युवती और नजमुल बस में चढ़ गए तो आरोपितों ने अन्य यात्रियों को उनके गंतव्य से पहले ही बस से उतार दिया।
इसके बाद आरोपितों ने युवती और नजमुल को बंधक बना लिया तथा उन्हें वापस नबीनगर ले गए। आरोपितों ने चलती बस में युवती के साथ दुष्कर्म किया। जब पुलिस गश्ती दल ने नजमुल के चीखने-चिल्लाने की आवाज सुनी तो वाहन को रोका और सभी को गिरफ्तार कर युवती और उसके साथ मौजूद नजमुल को मुक्त कराया।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: