Tuesday, 25 May 2021

संपूर्ण बुंदेलखंड को 31 मई तक करें कोरोना मुक्त : मुख्यमंत्री चौहान

सागर। संपूर्ण बुंदेलखंड को 31 मई तक कोरोना मुक्त करके शर्तों के अनुसार अनलॉक करने की प्रक्रिया प्रारंभ की जाएगी। साथ ही वैक्सीनेशन के प्रति फैले भ्रम को जागरूकता अभियान चलाकर दूर करना होगा और तीसरी लहर के लिए भी हम सभी को जागरूक रहने की आवश्यकता है। यह बात मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने सागर संभाग की क्राइसिस मैनेजमेंट बैठक में सदस्यों से चर्चा करते हुए कही।

मुख्यमंत्री चौहान ने संभाग के समस्त जिलों में गठित क्राइसिस मैनेजमेंट की कमेटी के सदस्यों से वर्चुअल कान्फ्रेंस के माध्यम से चर्चा करते हुए कहा कि आप सभी के सहयोग से हमें 31 मई के पूर्व कोरोना संक्रमण से निजात पाना है। आपके सहयोग से ही तीसरी लहर को रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर जन-जागरूकता अभियान चलाया जाएगा जिससे तीसरी लहर को रोका जा सके ।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि, वैक्सीनेशन के प्रति फैले भ्रम को दूर करने के लिए आप सभी जन-जागरूकता अभियान चलाकर सभी को प्रेरित करें कि वे वैक्सीनेशन अवश्य कराएँ। मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि 1 जून से अधिक से अधिक वैक्सीनेशन कराने के लिए अभियान चलाया जाएगा। उन्होंने कहा कि, वैक्सीनेशन कराने के पश्चात कुछ लोगों को हल्का बुखार आता है परंतु इस हल्के बुखार से डरने की आवश्यकता नहीं है। यह अन्य किसी वैक्सीनेशन के बाद होने वाली आम प्रतिक्रिया है।
मुख्यमंत्री ने कहा कि, वैक्सीनेशन  को लेकर अनेक प्रकार की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। इसको लेकर मंगलवार को भोपाल में बैठक कर वैक्सीनेशन को और सुलभ एवं सरल करने के लिए समीक्षा की जाएगी। मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि कोरोना संक्रमण की जाँच अधिक से अधिक लोग करवायें। मैं भी प्रत्येक सप्ताह अपनी जाँच करवाता हूँ।
मुख्यमंत्री चौहान ने जन-कल्याणकारी योजनाओं की समीक्षा करते हुए कहा कि कोरोना संक्रमण से प्रभावित हुए परिवारों को तत्काल लाभ देने के निर्देश दिए हैं। जिन बच्चों के माता-पिता का संक्रमण के कारण निधन हो गया है उन बच्चों के खातों में 30 मई तक 5000 रुपये की राशि हस्तांतरित करने के लिए समस्त प्रस्ताव तैयार करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संक्रमण की रोकथाम और नियंत्रण के लिए ड्यूटी पर नियुक्त किए गए शासकीय कर्मचारियों की कोरोना संक्रमण के कारण मृत्यु होती है, तो संबंधित परिवार के सदस्य को तत्काल उसी पद पर अनुकंपा नियुक्ति एवं परिवार को  5 लाख रुपए की अनुग्रह राशि प्रदान की जाएगी।
मुख्यमंत्री चौहान ने कहा कि दीनदयाल रसोई योजना समस्त जिलों में जारी रहेगी। रोगी कल्याण समिति को भी और सशक्त बनाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना संक्रमण से हुए लॉकडाउन के कारण कोई भी राशन के लिये परेशान न हो। इसके लिए प्रदेश सरकार द्वारा पात्र हितग्राहियों को 3 माह का राशन एवं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा 2 माह का राशन उपलब्ध कराया जा रहा है। उन्होंने जन-प्रतिनिधियों से कहा कि वे सभी राशन वितरण की मॉनीटरिंग भी करें।
मुख्यमंत्री ने कहा कि किल करोना अभियान निरंतर जारी रहेगा। अभियान के सर्वे के दौरान मिलने वाले ऐसे व्यक्ति जिनमें कोरोना के लक्षण हैं उन्हें, तत्काल मेडिकल किट प्रदान की जाये एवं आवश्यक हो तो उन्हें ट्रिपल सी में आइसोलेट किया जाए। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कोई भी ट्रिपल सी बंद नहीं किया जाएगा। समस्त जिला चिकित्सालय एवं मेडिकल कॉलेजों में जो भी व्यवस्था जारी है, उसे यथावत रखा जाए।
इस अवसर पर केंद्रीय संस्कृति एवं पर्यटन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) प्रहलाद पटेल, प्रदेश के लोक निर्माण मंत्री गोपाल भार्गव, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री भूपेंद्र सिंह ठाकुर, राजस्व एवं परिवहन मंत्री गोविंद सिंह राजपूत, खनिज साधन और श्रम मंत्री बृजेंद्र प्रताप सिंह, जिला अध्यक्ष गौरव सिरोठिया, विधायक शैलेंद्र जैन, प्रदीप लारिया और महेश राय, संभागायुक्त मुकेश शुक्ला, डीआईजी राम शंकर डेरिया, कलेक्टर दीपक सिंह ,पुलिस अधीक्षक अतुल सिंह, नगर निगम कमिश्नर आर.पी. अहिरवार, जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी, डॉक्टर इच्छित गढ़पाले और समस्त जन-प्रतिनिधि एवं अधिकारी मौजूद थे।

Previous Post
Next Post

post written by:

0 comments: