बुलेट प्रूफ गाड़ी बन रही थी आम जनता से दूरी की वजह, मुख्यमंत्री ने लिया सामान्य गाड़ी में चलने का फैसला

देहरादून। जनता से दूरी कम करने के लिए मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने नई पहल की है। उन्होंने जनता से अपने लगाव के कारण अब से फॉर्च्यूनर गाड़ी को छोड़कर इनोवा से सार्वजनिक कार्यक्रमों में आने-जाने का निर्णय लिया है। 

फॉर्च्यूनर के बुलेट प्रूफ होने से उसके शीशे नहीं खुल पाते थे, इस कारण वे जनता से मिल नहीं पाते थे। इनोवा से सफर करने पर वे जनता और कार्यकर्ताओं से सीधे तौर पर मिल सकेंगें। मुख्यमंत्री जनता के प्रति कितने संवेदनशील और उनसे कितना जुड़ाव रखते हैं, यह उनके इस निर्णय से साबित होता है।

पत्रकार राव शफ़ाअत अली ने अपने फेसबुक पर जानकारी शेयर करते हुऐ लिखा है कि कोरोना के संक्रमण से मुक्त होने के बाद मुख्यमंत्री ने महसूस किया कि फॉर्च्यूनर गाड़ी से सार्वजनिक कार्यक्रमों में जाने के कारण वे जनता से खुलकर नहीं मिल पाते हैं और उनकी समस्याएं वे जान नहीं पाते हैं। बुलेट प्रूफ फॉर्च्यूनर गाड़ी यूं तो सुरक्षा के लिहाज से काफी महत्वपूर्ण है और हर मुख्यमंत्री के पास सुरक्षा साधनों से लैस वाहन होता है, परंतु मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत ने जनता की समस्याओं के सामने अपनी सुरक्षा को भी द्वितीय रखा और उन्होंने इनोवा से सार्वजनिक कार्यक्रमों में जाने का निर्णय लिया।

Post a Comment

0 Comments