चीन से तनातनी के बीच PM मोदी थोड़ी देर में शुरू करेंगे करेंगे मन की बात

नई दिल्ली। चीन के साथ चल रहे तनाव के बीच, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 28 जून को सुबह 11 बजे रेडियो पर 'मन की बात' कार्यक्रम के माध्यम से देशवासियों को संबोधित करेंगे। यह माना जाता है कि इस अवधि के दौरान, वह चीन के साथ जारी संघर्ष और मुख्य विपक्षी कांग्रेस द्वारा अपनाए गए आक्रामक दृष्टिकोण के कारण आम जनता के सामने अपना पक्ष प्रस्तुत कर सकता है।

यह पीएम मोदी के रेडियो कार्यक्रम का 66 वां संस्करण है। देश में कोरोना वायरस की महामारी के बीच पीएम मोदी का यह चौथा संबोधन होगा। प्रधानमंत्री हर महीने के आखिरी रविवार को 'मन की बात' के जरिए देशवासियों को संबोधित करते हैं।

इससे पहले 31 मई को मन की बात में पीएम मोदी ने कहा था कि कोरोना काल में योग बहुत महत्वपूर्ण है। उन्होंने कहा कि कोरोना संकट के इस समय में, योग आज और भी महत्वपूर्ण है क्योंकि यह वायरस हमारे श्वसन तंत्र को सबसे अधिक प्रभावित करता है। योग में, प्राणायाम के कई प्रकार हैं जो श्वसन प्रणाली को मजबूत करते हैं, जिसे हम लंबे समय से देख रहे हैं।

पीएम हर बार लोगों से सोशल मास्क और मास्क पहनने की अपील करते हैं। कोरोना वायरस एक व्यक्ति से दूसरे व्यक्ति में फैलता है, इसलिए लोगों को अपने घरों में यथासंभव रहने के लिए कहा जा रहा है।

इस बार भारतीय जनता पार्टी ने भी 28 जून को पीएम के मन की बात कार्यक्रम को सुनने के लिए अपने कार्यकर्ताओं से अपील की है। भाजपा की ओर से कहा गया है कि सभी बीजेपी अधिकारियों और कार्यकर्ताओं को पीएम के मन की बात कार्यक्रम को सुनना चाहिए। प्रमुखता से और लोगों के लिए इसे उपलब्ध कराएं।

साथ ही बीजेपी ने कार्यकर्ताओं को कार्यक्रम में उक्त बातें बताने की जिम्मेदारी भी दी है। ऐसी स्थिति में, यह माना जाता है कि इस कार्यक्रम के माध्यम से, मोदी आम जनता को चीन के साथ युद्ध की स्थिति में उनकी तैयारियों के बारे में आश्वस्त कर सकते हैं, साथ ही उनसे विषम संकट में धैर्य रखने की अपील कर सकते हैं।

Post a Comment

0 Comments