काबुल की मस्जिद में फिर हुआ बम धमाका, इतने लोगों की गयी जान

पश्चिम काबुल में शुक्रवार को एक मस्जिद में हुए बम विस्फोट में एक इमाम सहित कम से कम चार लोग मारे गए और आठ अन्य घायल हो गए। अफगानिस्तान सरकार के एक अधिकारी ने यह जानकारी दी। अफगानिस्तान के आंतरिक मंत्रालय के प्रवक्ता तारिक एरियन ने कहा कि बम मस्जिद के अंदर रखा गया था। हालांकि, उसके पास कोई विस्तृत जानकारी नहीं थी। पुलिस ने इलाके की घेराबंदी की और घायलों को एंबुलेंस और नजदीकी अस्पताल ले जाने में मदद की। किसी ने अभी तक जिम्मेदारी का दावा नहीं किया है, लेकिन इस महीने की शुरुआत में एक मस्जिद पर हमले का दावा इस्लामिक स्टेट से जुड़े एक समूह ने किया है।

तालिबान ने एक बयान जारी कर इस हमले की कड़ी निंदा की और इमाम की हत्या को "प्रमुख अपराध" बताया। अजीजुल्ला मोफलेह फ्रोटन शहर के प्रमुख पेशे इमामों में से एक थे। अफगानिस्तान में हाल के हफ्तों में हिंसा बढ़ी है और अधिकांश हमलों का दावा इस्लामिक स्टेट से जुड़े एक समूह ने किया है। इस महीने की शुरुआत में, आईएस ने काबुल के वज़ीर अकबर खान इलाके में स्थित एक मस्जिद में विस्फोटक रखा था, जिसमें पेशम इमाम की मौत हो गई और आठ अन्य घायल हो गए। अमेरिका ने पिछले महीने राजधानी के एक प्रसूति अस्पताल पर एक भयानक हमले के लिए आईएस से जुड़े समूह को दोषी ठहराया था जिसमें दो शिशुओं और कई माताओं सहित 24 लोग मारे गए थे।

आईएस समूह ने देश के अल्पसंख्यक शिया मुसलमानों के खिलाफ युद्ध की घोषणा की है, लेकिन सुन्नी मस्जिदों पर भी हमला किया है। शुक्रवार को लक्षित मस्जिद सुन्नी मस्जिद है। आईएस से जुड़े समूह ने 30 मई को काबुल में एक बस पर हमले की जिम्मेदारी ली थी जिसमें पत्रकार सवार थे। उस हमले में दो लोग मारे गए थे। वाशिंगटन के शांतिदूत जाल्मी खलीलजाद इस सप्ताह के शुरू में क्षेत्र में थे और उनका प्रयास तालिबान के साथ अमेरिकी शांति समझौते को पुनर्जीवित करना था।

Post a Comment

0 Comments