शहीद हुआ 21 साल का जवान, 8 माह पहले हुई थी शादी, पिता ने कहा- बेटे ने सिर सम्मान से ऊँचा कर दिया

रीवा। 21 साल का वीर सपूत सोमवार और मंगलवार की दरमियानी रात गलवान घाटी में चीनी सैनिकों के साथ हुई भारतीय सैनिकों की मुठभेड़ में शहीद हो गया। आठ महीने पहले इस जवान की शादी हुई थी। आज जवान का पार्थिव शरीर फरहेदा पहुँचेगा।

मध्य प्रदेश के रीवा शहर की मनगवाँ तहसील के फरहेदा गाँव के शहीद हुए जवान का नाम दीपक सिंह है। गजराज सिंह उनके पिता हैं।

 गलवान घाटी के निकट दीपक बिहार रेजिमेंट में तैनात थे। मंगलवार को जैसे ही चीनी सैनिकों से भारतीय सैनिकों की मुठभेड़ और उसमें हमारे कई जवानों के मारे जाने की सूचना आयी थी तभी दीपक का पूरा का पूरा परिवार चिंतित और आशंकित हो गया था।

सैन्य अधिकारियों ने चीनी सैनिकों से मुठभेड़ में दीपक के शहीद होने की सूचना पिता गजरात सिंह को दी तो पूरे परिवार पर गमों का पहाड़ टूट पड़ा। पूरे क्षेत्र में मातम छा गया। दीपक अपने परिवार में सबसे छोटे थे।

दीपक की शादी नवंबर 2019 में हुई थी। उनके विवाह को अभी आठ महीने भी पूरे नहीं हुए हैं। दीपक अंतिम बार मार्च में होली मनाने घर आये थे।

पिता ने नम आँखों से कहा, ‘किसी को क्या पता था कि अब दीपक शहीद होकर तिरंगे में लिपटकर घर वापस आएगा। दिल भारी है, लेकिन बेटे ने सिर सम्मान से ऊँचा कर दिया।’


भाई थे दीपक के रोल माॅडल
शहीद दीपक के रोल माॅडल बड़े भाई प्रकाश सिंह थे। प्रकाश भी सेना में हैं। सीमा पर तैनात प्रकाश से प्रेरित होकर ही दीपक ने भी सेना ज्वाइन की थी। शहीद दीपक सिंह मिलनसार स्वभाव के थे। उनके भाई को भी दीपक की शहादत की सूचना दे दी गई है।

Post a Comment

0 Comments