आखिर शराब पीने के बाद इंसान क्यों नहीं कर पाता खुद पर कंट्रोल?

शराब पीना एक बुरी आदत है। अक्सर लोग शौकियातौर पर शराब का सेवन करना शुरू करते हैं, मगर उनका ये शौक कब आदत में बदल जाता है उन्हें पता ही नहीं चलता। अक्सर आपने लोगों को दारू पीकर हंगामा करते हुए देखा होगा। कई बार लोग शराब पीने के बाद ज़्यादा ही आक्रामक और हिंसक प्रवृति के हो जाते है। आखिर ड्रिंक करने के बाद ऐसा क्या होता है, जो देखते ही देखते ही लोग आपना आपा खो बैठते हैं? आईए हम आपको बताते हैं।
इस बात की वजह जानने के लिए यूनीवर्सिटी आॅफ न्यू साउथवेल्स आॅस्ट्रेलिया के वैज्ञानिकों ने एक रिसर्च की। इस रिचर्स में वैज्ञानिकों ने पाया कि सिर्फ़ 2 पैग वोडका पीने से इंसान के दिमाग़ में कुछ बदलाव आते हैं, जो कि आक्रामकता से जुड़े हुए हैं। ड्रिंक करने के बाद लोगों का व्यवहार क्यों बदल जाता है और उसके बाद वो हिंसा पर क्यों उतर आते हैं। इसे समझाने के लिए वैज्ञानिकों ने एमआरआई स्कैन का उपयोग किया।
इस रिसर्च में प्रतिभागियों को दो ग्रुप्स में बांटा गया। इसमें से एक ग्रुप को वोडका के दो-दो पैग दिए गए और दूसरे ग्रुप को नॉर्मल ड्रिंक्स सर्व की गईं। इसका अध्यन यूनिवर्सिटी के एसोसिएट प्रोफ़ेसर थाॅमस डेनसन के नेतृत्व में किया गया। शोध में पाया गया कि एल्कोहल युक्त पेय का पदार्थ का सेवन करने वाले लोगों के मस्तिष्क के प्रीफ्रंटल कॉर्टेक्स की सक्रियता में कमी आयी, जिसके कारण उनके बात करने के तरीके में बदलाव आया और वे सामान्य न रहकर आक्रामक होते चले गये।
इससे ये निष्कर्ष निकाला गया कि शराब पीने के बाद व्यवहार में आक्रामकता आ जाती है। इसलिए वो अपनी बात को सही साबित करने के लिए एक ही बात को बार-बार दोहराते हैं। तो अब समझ आ गया न कि आखिर शराब पीने के बाद लोगों को गुस्सा क्यों आता है और इसकी क्या वजह है।

Post a Comment

0 Comments