बिना कपड़ों के क्यों रहते हैं नागा संत, क्या है वजह...

भारत देश धर्म प्रधान देश है। यहां कई तरह के साधु संत भी है। जिनकी अपनी ही विशेषताएं होती है। कई साधु तो ऐसे भी है जो किसी प्रकार के वस्त्र धारण नहीं करते है। उन्हें सांसारिक जीवन से कोई मतलब नहीं होता है। अक्सर किसी धार्मिक स्थल पर या कुम्भ के मेलो में नागा बाबा बिना वस्त्र धारण किये ही रहते है। 
तपस्या में रहते है लीन:
ये बाबा अपनी ही तपस्या में लीन रहते है। इन बाबाओ को कोई भी शर्म हया नहीं होती है। ये बस अपनी मस्ती में मस्त रहते है। आज हम आपको बताएंगे की आखिर क्या वजह है की ये नागा बाबा कभी भी वस्त्र धारण नहीं करते है। 
इसलिए बाबा नहीं करते है वस्त्र धारण:
नागा साधुओ का मानना है की वह ईश्वर के देवदूत है। उन्हें कपड़ो से कोई मतलब नहीं है। वह कहते है की कपडे वह लोग पहनते है जिन्हे अपने तन की सुरक्षा करना होती है।
नागा बाबाओ के लिए कपड़ो का इसी वजह से कोई महत्त्व नहीं है। ये लोग सभी सांसारिक सुख त्याग कर एक कुटिया में अपना जीवन व्यतीत करते है।

Post a Comment

0 Comments