यहाँ एक दूसरे को देखते ही रास्ते बदल लेते है लोग...

हमने अक्सर यह तो देखा है कि कोई व्यक्ति हमें पसंद नहीं है या फिर किसी की हमसे दोस्ती नहीं है, तो हम उसे देखकर मुस्कुराते नहीं हैं या फिर अपना रास्ता बदल लेते हैं। लेकिन क्या कभी यह देखा कि एक—दो व्यक्ति नहीं बल्कि पूरे देश के लोग एक—दूसरे को देखकर अपना रास्ता बदल लें। नहीं न,  तो हम आपको बता दें कि यह सच है। दुनिया में एक ऐसा देश है, जहां के लोग एक—दूसरे से बात करना पसंद नहीं करते हैं और उन्हें बात न करनी पड़े, इसलिए वह सामने किसी को देखकर या तो मुंह फेर लेते हैं या ​अपना रास्ता बदल लेते हैं। 
यह पढ़कर आपको आश्चर्य हुआ होगा कि ऐसा कैसे  हो सकता है, लेकिन यह सच है। यह देश है लातविया। यूरोप के इस देश की खासियत  है कि यहां के लोग आपस में बहुत कम बात करते हैं।  इसलिए इसे कम बोलने वालों का देश भी कहा जाता है। यहां के लोग अपनी ही दुनिया में खोए रहते हैं। ऐसा कहा जात है कि इनकी यह कम बोलने की आदत ही है, जो यहां के लोग रचनात्मक होते हैं। एक रिसर्च के ​अनुसार, लातविया के क्रिएटिव होने के पीछे यहां के लोगों की कम बोलने की आदत है। लेकिन खास बात यह है कि यहां के लोग अपने—आप में इतना डूबे होते हैं कि वह खुली जगहों पर जाना पसंद नहीं करते, इसलिए रास्ते के लिए गलियों का इस्तेमाल करते हैं, ताकि उन्हें सड़क पर कोई मिल न जाए और उन्हें उससे बात न करनी पड़े। 
जानकारी के अनुसार, यहां के लोग कम जरूर बोलते हैं, पर ऐसा नहीं है कि वह दूसरों की मदद नहीं करते। बस अजनबियों को देखकर यह मुस्कुराते नहीं है, लेकिन दूसरों की मदद में हमेशा आगे रहते हैं। इतना ही नहीं यह मॉर्डन भी हैं और यूरोप के मॉर्डन अपार्टमेंट में रहने वाली आबादी का बड़ा हिस्सा लातविया के लोगों का है। 

Post a Comment

0 Comments