भगवान भी लगा रहे है इस मंदिर में सुट्टा

दुनिया में कई ऐसे मंदिर हैं जहाँ कुछ अलग और कुछ अजीब होता ही रहता हैं. कई ऐसे मंदिर, जिन्हे लेकर अजीब और अनोखी परम्पराएं हैं. अब आज हम आपको भगवान शिव के एक ऐसे मंदिर के बारे में बताने जा रहे हैं जो बहुत ही अजीब हैं.

दरअसल आप सभी को पता ही होगा कि भगवान शिव भांग और धतूरा बहुत पसंद करते हैं इस वजह से उनकी पूजा के दौरान भी इन दोनों का उपयोग किया जाता हैं.

आज हम जिस मंदिर की बात कर रहे हैं, वहां भगवान शिव को भांग या धतूरा नहीं बल्कि सिगरेट अर्पित की जाती हैं. जी हाँ, और वह मंदिर हिमाचल प्रदेश के अर्की सोलन जिले में साल 1621 में बनाया गया हैं.

इस मंदिर के भगवान शिव का नाम लुटरू महादेव हैं और वहां के सभी लोग उन्हें लुटरू महादेव के नाम से ही पुकारते हैं. यहाँ पर भक्तों की कतारें लगी रहती हैं और वह हर दिन शिव भगवान को सिगरेट चढ़ाने आते हैं. कहा जाता हैं कि यहाँ पर भोले बाबा सिगरेट बड़े ही उत्सुकता के साथ पीते हैं और पसंद भी करते हैं.

यहाँ पर भगवान शिव को सिगरेट चढ़ाते ही वह सुलगने लगती है और थोड़ी ही देर में वह खत्म भी हो जाती हैं. भगवान शिव की शिवलिंग से धुंआ निकलने लगता हैं और ऐसा प्रतीत होता हैं जैसे भोले सिगरेट के कश लगा रहे हैं.
यहाँ पर हर दिन लोग इस दृश्य को देखने आते हैं और भगवान शिव का जयकारा लगाते हैं.

इस मंदिर में भगवान के शिवलिंग के पास कई गड्ढे बनाए गए हैं जहाँ पर लोग अपने द्वारा लाई गई सिगरेट फंसा देते हैं और उसके बाद भगवान के दर्शन कर वहां पर जयकारे लगाते हैं.

Post a Comment

0 Comments