ज्यादा दूध के लिए गायों को सुनाए जा रहे हर रोज़ एम्पलीफायर से 3 घंटे गाने

नई दिल्ली।  राजस्थान के सीकर जिले के नीमकाथाना में खेतडी रोड पर स्थित श्रीगोपाल गौशाला में गायों को प्रतिदिन सुबह और शाम एम्पलीफायर लगाकर तीन तीन घंटे संगीत सुनाया जाता है. गौशाला के प्रबन्धकों का दावा है कि उनके यहां दुग्ध उत्पादन में 20 प्रतिशत तक बढ़ोतरी हो गई है।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गौशाला के अध्यक्ष दौलतराम गोयल ने बताया कि गौशाला में 550 गायों के लिए वर्ष 2016 से सुबह 5.30 बजे से 8.30 बजे तक और शाम को 4.30 बजे से 8.00 बजे तक एम्पलीफायर के जरिए भजन सुनाए जाते हैं. उन्हें गायों को संगीत सुनाने के लिए किसी गौभक्त ने बताया था कि संगीत सुनाने से गायों को ज्यादा हिलोरें आएंगी और दूध भी बढ़ेगा।


इसका उन्होंने प्रयोग करके देखने की सोची और गौशाला में ध्वनि प्रसारण यंत्र लगा कर वर्ष 2016 में गायों को संगीत सुनाना शुरू किया. शीघ्र ही उन्हें इसके नतीजे मिलने लगे।

उन्होंने बताया कि गायों को अच्छी तरह से रखने के लिए गौशाला में उन्होंने चालीस फुट लम्बा और 54 फुट चौडा आरसीसी का हॉल बनाया है जिसमें 108 पंखें लगाये गये है. इसमें भी म्यूजिक सिस्टम लगाया जायेगा. वे आशा करते हैं कि इस नई व्यवस्था से गायों की दुघ उत्पादन क्षमता और बढ़ेगी। 

Post a Comment

0 Comments